‘टीसीएस कर’ वापिस लेने को व्‍यापरियों ने किया प्रदर्शन

कलेक्ट्रेट में व्यापारियों ने प्रदर्शन कर 1 अक्टूबर से लगने वाले पीसीएस टैक्स को वापस लेने की मांग को लेकर जिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री को दिया ज्ञापन

0
282

झांसी। देश के सबसे बड़ेे व्यापारिक संगठन कॉनफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स कॉनफेडरेशन(कैट) के राष्ट्रीय आवाहन पर केंद्र सरकार द्वारा एक अक्टूबर से लगाए जाने वाले TCS (टैक्स कलेक्टेड फॉर सोर्स) को हटाने की मांग को लेकर आज 26 सितंबर को कैट के राष्ट्रीय मंत्री एवं उत्तर प्रदेश व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष संजय पटवारी के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट में व्यापारियों ने प्रदर्शन कर जिलाधिकारी के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक ज्ञापन प्रेषित किया।
इस दौरान व्यापारियों ने कहा कि कोविड-19 महामारी से संपूर्ण देश का व्यापारी काफी परेशान है। ऐसे में व्यापारियों को अपने परिवार की जीविका चलाने के लिए भी संघर्ष करना पड़ रहा है। इन परिस्थितियों में सरकार द्वारा एक और टैक्स टीसीएस लगाकर व्यापारियों को अनावश्यक रूप से परेशान किया जा रहा है। साथ ही टैक्स से व्यापारियों पर कागजी कार्यवाही का भार भी बढ़ जाएगा एवं इसका रिटर्न अलग से जमा कराना होगा, जोकि तर्कसंगत नहीं है। उत्तर प्रदेश व्यापार मंडल ने देश के प्रधानमंत्री से अनुरोध किया कि एक अक्टूबर से लगने वाले टीसीएस कानून को वापस लिया जाए जिससे कि व्यापारियों को राहत मिल सके। इस मौके पर व्‍यापारी नेता राजेश बिरथरे, संजय सराफ, पंकज शुक्ला, अजीत राय, अनुज नीखरा, चौधरी साहिल, दिलीप सिंघल, बंटी वशिष्ठ, अजय चड्ढा, नितिन साहू, युसूफ सराफ, शशांक दुबे, अभिषेक राजपूत, हर्ष प्रजापति, मनीष अग्रवाल, विभोर शर्मा, शिवम शर्मा आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY