सेवा दर्शन,सेवा भक्ति एवं सेवा सृजन का मार्ग अपनाये युवा शक्ति- निधि त्रिपाठी

*************स्टूडेंट फॉर सेवा और बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के एनएसएस के बीच हुआ एमओयू ******************स्टूडेंट फॉर सेवा कार्यशाला दूसरे दिन सेवा लक्ष्यों को लेकर हुई चर्चा

0
94

झाँसी। शिक्षा ज्ञान के साथ में अर्थ उत्पादन में भी सहायक होती है। शिक्षा से व्यक्ति स्वावलंबी हो अपने परिवार का भरण पोषण करने के लिए तैयार होता है। लेकिन राष्ट्र निर्माण के लिए युवा ग्रुप केवल इन उद्देश्य तक सीमित नहीं रहना है बल्कि समाजोपयोगी बनना है। उक्त विचार अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री निधि त्रिपाठी ने बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित स्टूडेंट फॉर सेवा के दूसरे दिन प्रथम सत्र में व्यक्त किए।
उन्होंने कहा कि युवाओं को व्यक्तिनिष्ठ की अपेक्षा समाजनिष्ठ बनने की आवश्यकता है। और इसके लिए सेवा मार्ग सर्वाधिक उचित है। शिक्षा के साथ ही सेवा कार्यों में समय दें छात्र अपने जीवन को उपयोगी बना सकते हैं। अखिल भारतीय स्टूडेंट फॉर सेवा प्रमुख कमलनयन प्रथम दिन कार्यशाला की संक्षिप्त रूपरेखा प्रस्तुत की। छात्रों को सेवा कार्य में विशिष्ट योगदान देने वाले महापुरुषों के संस्मरण सुनाए। स्टूडेंट फाॅर सेवा की राष्ट्रीय संयोजक मुस्कान आनंद ने पिछले वर्ष किए गए कार्यों से सभी को अवगत कराया। दूसरे सत्र में अभाविप के राष्ट्रीय संगठन मंत्री आशीष चौहान ने विभिन्न प्रांतों से आए स्टूडेंट फॉर सेवा की कार्यकर्ताओं से कार्य में आने वाली समस्याओ, विशिष्ट उपलब्धियों, संगठनिक संरचना आदि के विषय में संवाद किया किया। उन्होंने कहा कि सेवा कार्य को और अधिक व्यापकता प्रदान की जाने की आवश्यकता है। अंतिम सत्र में स्टूडेंट फॉर सेवा एवं बुंदेलखंड विश्वविद्यालय के एनएसएस के बीच सेवा कार्यों को लेकर एमओयू साइन किया गया। इसमें बुंदेलखंड विद्यालय के कुलपति प्रोफेसर मुकेश पांडे एनएसएस समन्वयक मुन्ना तिवारी के साथ विश्वविद्यालय परिवार के अन्य शिक्षक उपस्थित रहे। कुलपति ने कहा कि निश्चित ही इससे सेवा कार्यों को बढ़ावा मिलेगा। इस अवसर पर पूर्व कार्यकर्ता इस अवसर पर उत्तर पूर्वी क्षेत्र के संगठन मंत्री घनश्याम शाही, पश्चिमी क्षेत्र के संगठन मंत्री मनोज निखरा, कानपुर प्रांत अध्यक्ष यतींद्र सिंह, कानपुर प्रांत के संगठन मंत्री अंशुल विद्यार्थी, प्रांत उपाध्यक्ष श्रीहरि त्रिपाठी के साथ शिक्षक कार्यकर्ता के रूप में डॉ कौशल त्रिपाठी, डॉ बृजेश मिश्रा, डॉ बृजेश परिहार, सत्या चौधरी, व्यवस्था प्रमुख देवेंद्र सिंह एवं छात्र कार्यकर्ताओं में गौरव रावत, उदय राजपूत, मनेंद्र गौर, पंकज शर्मा, संस्कृति ग्रुप वासियों, रश्मि कुशवाहा, आयुष उपाध्याय, अजय तिवारी, जयवर्धन मिश्रा,शादाब खान, प्रतिक द्विवेदी, सुधीर यादव, अमृत राज पटेल, हिमांशु द्विवेदी, अंकित श्रीवास्तव, रितिक पटेल आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY