गाँव के प्राइमरी विद्यालयों में डिजिटल लाइब्रेरी/एस्ट्रोनॉमी लैब की स्थापना का कार्य शीघ्र प्रारंभ हो : डीएम

** जनपद में प्रत्येक दशा में प्री मानसून सर्वे 01 जुलाई 2022 से पूर्व पूर्ण किया जाना आवश्यक ताकि खनन पट्टे आवंटित किए जा सके ** डी.एम.एफ. फंड से विकासखंड चिरगांव की ग्राम गुलारा / गुराटा 16 लाख से अधिक लागत का गोबर गैस प्लांट का कार्य जल्द प्रारंभ करने के निर्देश ** डी0एम0एफ0 के कार्यो में खनन क्षेत्र से प्रभावित जनता का भी हित समाहित ** डी0एम0एफ0 के एसे कार्य जिनकी स्वीकृति सहित धन उपलब्ध है, कार्यदाई संस्थाएं गुणवत्ता के साथ कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करें

0
87

झांसी। जिलाधिकारी रविंद्र कुमार की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में जिला खनिज फाउंडेशन न्यास झांसी की शासी परिषद एवं प्रबंधन समिति की बैठक आहूत की गई।
बैठक में जिलाधिकारी ने जिला खनिज फाउंडेशन न्यास झांसी की शासी परिषद एवं प्रबंध समिति की बैठक में बताया कि इस निधि का इस्तेमाल ऐसे ग्रामों में जो खनन क्षेत्र से प्रभावित हैं जनहित के कार्य के साथ वहां पढ़ रहे बच्चों और उनके स्वास्थ्य की कार्यों पर प्रमुखता से किए जाते हैं उन्होंने जनप्रतिनिधियों से अनुरोध किया कि ऐसे प्रस्ताव प्रेषित करें जिनका अधिक से अधिक ग्राम वासियों को लंबे समय तक लाभ प्राप्त हो और लंबे समय तक जनउपयोगी सिद्ध हो सके।
जिलाधिकारी ने विकास भवन सभागार में आयोजित जिला खनिज फाउंडेशन न्यास, झांसी के शासी परिषद एवं प्रबंध समिति की बैठक में अध्यक्षता करते हुए कहा कि माननीय राष्ट्रीय हरित अधिकरण के आदेश के अनुपालन में पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुसार मानसून सत्र 01 जुलाई से प्रारंभ हो रहा है, उन्होंने कहा कि प्रत्येक दशा में प्री मानसून से संबंधित सर्वे भारत सरकार द्वारा मिनी रत्न कंपनी के द्वारा 01 जुलाई 2022 तक पूर्ण किया जाना आवश्यक है ताकि खनन हेतु पट्टों का चिन्हाकंन किया जा सके। बैठक में जनपद झांसी में नदी तल स्थित बालू /मोरम की कुल 36 क्षेत्रों का प्री मानसून एवं पोस्ट मानसून के सर्वे के लिए जिला खनिज फाउंडेशन न्यास द्वारा धनराशि उपलब्ध कराने पर सहमति दी। जिलाधिकारी ने विकास भवन सभागार में आयोजित जिला खनिज फाउंडेशन न्यास, झांसी के शासी परिषद एवं प्रबंध समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि स्वीकृत कार्यों के लिए धनराशि कार्यदाई संस्था को उपलब्ध कराई जा चुकी है, उन्होंने कार्यदाई संस्थाओं को सख्त निर्देश दिए कि किए जाने वाले कार्यों को गुणवत्ता के साथ और समय सीमा में पूर्ण करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने जिला खनिज फाउंडेशन न्यास निधि से संपादित परियोजनाएं/संपादित किए जाने हेतु प्रस्तावित परियोजनाओं पर चर्चा करते हुए निर्देश दिए कि समस्त स्वीकृत परियोजनाओं के निर्माण हेतु कार्यदाई संस्थाओं को धनराशि उपलब्ध है। उन्होंने कहा की खनन क्षेत्र में लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाई जा रही सड़कों मैं गुणवत्ता के साथ किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि टेक्निकल टीम द्वारा कार्य की जांच कराए जाने पर यदि जांच क्वालिटी युक्त नहीं पाई जाती है तो कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। जिला खनिज फाउंडेशन न्यास झांसी के शासी परिषद एवं प्रबंध समिति की बैठक में जिलाधिकारी ने जनपद झांसी के खनन प्रभावित क्षेत्रों में कार्यरत प्राथमिक विद्यालय, पूर्व माध्यमिक विद्यालय, कंपोजिट विद्यालय, संविलियन विद्यालय, उच्च प्राथमिक विद्यालय, जूनियर हाई स्कूल के परिसर में खगोल विज्ञान प्रयोगशाला (एस्ट्रोनॉमी लैब) की व डिजिटल लाइब्रेरी की स्थापना के संबंध में भी विधिवत चर्चा करते हुए कहा कि खनन क्षेत्रों में कार्यरत 47 विद्यालयों में से 07 विद्यालयों में एस्ट्रोनॉमी लैब स्थापित कराए जाने के कार्य को गति के साथ पूर्ण करने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त 32 विद्यालयों में कक्ष हेतु भूमि उपलब्ध है जिसके लिए उन्होंने आरईएस को कक्ष बनाए जाने के कार्य को जल्द प्रारंभ करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने खनन प्रभावित क्षेत्रों में गोबर गैस प्लांट की स्थापना की भी स्वीकृति देते हुए कहा कि विकासखंड चिरगांव के ग्राम गुलारा/गुराटा में लगभग 16 लाख से अधिक लागत का गोबर गैस प्लांट की स्थापना के कार्य को जल्द प्रारंभ करने के निर्देश दिए। बैठक में जिलाधिकारी ने खनन प्रभावित क्षेत्र में मॉडल के रूप में 2 गांव में डिजिटल लाइब्रेरी की स्थापना किए जाने की स्वीकृति के बाद कर्यदाई संस्था को धन उपलब्ध करा दिया गया है उन्होंने कार्यदाई संस्था को निर्देश दिए कि जल्द कार्य योजना तैयार करते हुए डिजिटल लाइब्रेरी का कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करें ताकि ग्रामीण क्षेत्र के बच्चे बुंदेलखंड के इतिहास के साथ ही देश की महान विभूतियों का परिचय और जानकारी प्राप्त कर सकें। उन्होंने निर्देश दिए कि जो भी कार्य किए जाएं गुणवत्ता परक हों, यदि जांच के दौरान गुणवत्ता खराब पाई जाती है तो संबंधित के खिलाफ कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाएगी। बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अनिल कुमार, अपर जिलाधिकारी वित्त/राजस्व रामअक्षयवर चौहान, उप जिलाधिकारी सदर श्रीमती सान्या छाबड़ा, जिला खनिज अधिकारी बी पी यादव, डीपीआरओ जेआर गौतम, एवं सांसद प्रतिनिधि, विधायकगण प्रतिनिधि एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहें।

LEAVE A REPLY