विवि : फिजिक्‍स विभाग की डीन के साथ बिगड़ी केमिस्‍ट्री

उपस्‍िथति रजिस्‍टर बना वर्चस्‍व की जंग का कारण

0
553

झांसी। बुन्‍देलखण्‍ड विश्‍वविद्यालय मे इन दिनों विज्ञान भवन स्‍थित भौतिक विज्ञान विभाग के डीन और एचओडी की कैमिस्‍ट्री काफी बिगड़ती जा रही है, जिसके चलते अन्‍य विभागों सहित शिक्षकों व छात्र-छात्राओं पर इसका असर होने लगा है। यह झगड़ा नाम के लिए ताे शिक्षकों की उपस्‍थिति का है, लेकिन सही मायने में उक्‍त मामला डीन और एचओडी के मध्‍य वर्चस्‍व की जंग का है। अब एक ओर जहां डीन अपनी पूरी ताकत एचओडी को झुकाने में लगा रहे हैं, तो दूसरी ओर एचओडी भी अपनी कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। हालांकि मामले को लेकर कुलपति और कुलसचिव तक शिकायतें पहुंचाने की कोशिशें बदस्‍तूर जारी हैं, लेकिन वार्षिक परीक्षाओं में व्‍यस्‍त होने के कारण उक्‍त मामले में कोई हस्‍तक्षेप अभी तक उच्‍चाधिकारियों द्वारा नहीं किया गया है।
उल्‍लेखनीय है कि विवि में शिक्षकों की उपस्‍िथति दर्ज कराने के लिए बायोमेट्रिक सिस्‍टम लगाने के साथ ही कैमरे पर भी जांंच की जाती रहती है, लेकिन विवि प्रशासन ने इसके साथ ही सभी विभागाेें मेें एक उपस्‍थिति रजिस्‍टर भी रखा हुआ है। बायोमेट्रिक सिस्‍टम में अपनी उपस्‍थिति दर्ज करने के साथ ही शिक्षक इस पर भी हस्‍ताक्षर करते हैं। इधर, नियमानुसार सभी विभागों के विभागाध्‍यक्ष और समन्‍वयक बदले जाने का क्रम प्रारम्‍भ हो गया और कुछ बदल गए और कुछ बदले जाने हैं। भौतिक विज्ञान के एचओडी फरवरी में बदल गए थे, जिसके बाद से ही उनकी और डीन के मध्‍य विवाद सा गहराया हुआ है। सूत्रों के अनुसार विगत दिनों हुए शिक्षक संघ के चुनाव के मसले को लेकर अघाेषित विवाद जारी है। ऐसे में जहां डीन ने उक्‍त विभाग का उपस्‍थिति रजिस्‍टर अपने पास रख लिया है, तो शिक्षकों को आने के बाद अपने विभाग में छात्रों काे पढ़ाने से पूर्व डीन के कार्यालय जाकर हस्‍ताक्षर करने होते हैं। इसमें शिक्षक ही नहीं, विभागाध्‍यक्ष को भी जाना होता है। ऐसे में मामले को लेकर विभागाध्‍यक्ष द्वारा कुलपति को एक पत्र भी भेजा गया था, जिस पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी। ऐसे में यदि यह विवाद जारी रहा, तो इसका असर आने वाले सेमेस्‍टर पर पड़ने की पूरी आशंका बन रही है।

LEAVE A REPLY