घनश्याम प्रकरण के दोषियों पर हो सख्त कार्रवाई

0
78

झाँसी। जन सूचना अघिकार मंच के पदाधिकारियों व सदस्यों का एक प्रतिनिधिमंडल घनश्यामदास से मुलाकात करने पहुंचा। उसके परिजनों को अमानवीय व्यवहार करने वालों को सख्त सजा दिलाने का आश्वासन दिया। इसके बाद जिलाधिकारी से मुलाकात कर मेडिकल कालेज की अव्यवस्थाओं से अवगत कराया। जिलाधिकारी को आश्वासन दिया कि जिला प्रशासन अव्यवस्थाओं की जांच कराए तो मंच मेडिकल कालेज की अव्यवस्थाओं के कई सबूत प्रशासन को उपलब्ध कराए जाएंगे।
संस्था अध्यक्ष मुदित चिरवारिया ने कहा कि महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कालेज में घोर अव्यस्थाओं का बोलबाला है। जो भी अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ बोलता है उसके साथ मारपीट कर मुंह बंद कर दिया जाता है। मेडिकल कालेज में जन प्रतिनिधि, पुलिसकर्मी, पत्रकार व आम जनता सभी उनके शिकार हो चुके हैं। शिकायत करने पर शासन- प्रशासन जांच के नाम पर खानापूर्ति करता है और कोई कार्रवाई न होने पर उनके हौसले बुलंद रहते हैं। मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर प्राईवेट प्रैक्टिस कर रहे हैं जिसकी शिकायतें हो चुकी हैं। घनश्याम नामक व्यक्ति के कटे पैर को तकिया बनाने का मामला सामने आया। इस मामले में भी जांच टीम मेडिकल कर्मचारियों को बचाने का प्रयास करेगी। आकस्मिक विभाग में आए दिन तीमारदार व स्टाफ में हाथापाई होती है। इसमें गलती किसकी होती है यह जानने के लिए आरटीआई कार्यकर्ता ने आकस्मिक विभाग के सीसीटीवी फुटेज की मांग कर चुकी है लेकिन उस समय भी यह कह दिया गया था कि सीसीटीवी कैमरे खराब हैं। कई बार झगड़ा होने पर सीसीटीवी फुटेज की मांग की जाती है तो सीसीटीवी कैमरे खराब होने की बात कर कर कर्मचारियों का बचाव कर लिया जाता है। इस अवसर पर राजेश तिवारी, विजय कुमार शर्मा, सुमंत सिंह, लाखन सिंह पटेल, जयप्रकाश, शैलेन्द्र द्विवेदी, कल्यान तिवारी, नन्दकिशोर उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY