आपकी सखी- आशा ज्योति ने लड़की की बचाई जान

0
101

झाँसी। आपकी सखी आशा ज्योति केन्द्र व स्टॉप सेंटर 181 महिला हेल्पलाइन पर सूचना मिलते ही झाँसी की टीम मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू करके लड़की को उसके परामर्श के बाद परिजनों के सुपुर्द कर दिया।
आशा ज्योति केन्द्र में प्रत्येक केस को गंभीरता से लेते हुए महिला को काउंसलिंग जोकि केस वर्कर संघमित्रा स्वभाव द्वारा गोपनीयता बनाए रखते हुए की जाती है। रिपोर्टिंग पुलिस चौकी जिसमें एक चौकी इंचार्ज व कौन महिला आरक्षी द्वारा रेस्क्यू पर तत्काल पहुंचकर महिला की मदद की जाती है। मेडिकल स्टॉफ द्वारा चिकित्सा परामर्श भी दिया जा रहा है। यह केन्द्र उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में 181 महिला हेल्पलाइन आशा ज्योति केन्द्र के नाम से मेडिकल कालेज परिसर में संचालित है। 181 महिला हेल्पलाइन पर आने वाली प्रत्येक केस में महिलाओं व बच्चों की सुरक्षा व सम्मान को देखते हुए पूरी गोपनीयता के साथ सभी प्रकार की कॉल व समस्याओं को गंभीरता से लेते हुए निस्तारण किया जाता है।
बताते हैं कि बुधवार को यूपी-100 ने 181 को सूचना दी कि रेलवे स्टेशन पर एक लड़की घबराई हालत में है। इस सूचना पर 181 की सुगमकर्ता प्रियंका तिवारी, अमृता तिवारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी नंदलाल शर्मा स्टेशन पर पहुंचे। वहां पर लड़की से पूछताछ की। उसने अपने आपको को ग्वालियर की रहने वाली बतायी है। लड़की ने बताया कि वह प्यार करती है मगर वाले शादी करने को तैयार नहीं थे इसलिए दो दिन पहले वह घर से भाग आई थी। इस आधार पर उसके परिजनों को स्टेशन पर बुलाया गया। पूछताछ के बाद उसे परिजनों के हवाले कर दिया।

————————

पिता की डॉट से भागी किशोरी बरामद

झाँसी। रेल सुरक्षा बल ने एक ट्रेन से पिता की डॉट से भागी किशोरी को बरामद कर लिया। बाद में उसे चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया।
रेल सुरक्षा बल के सहायक उपनिरीक्षक जेपी गौतम, आरक्षी सुरेन्द्र मीणा प्लेटफार्म नंबर दो पर गश्त कर रहे थे, तभी सूचना मिली कि दूरन्तो एक्सप्रेस के कोच नंबर एक-1 में एक लड़की बैठी है। वह घर से भागी है। इस सूचना पर गई टीम ने उक्त किशोरी को बरामद कर लिया। लड़की ने अपने को मद्रास निवासी बताया है। बाद में उक्त किशोरी को चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया।

LEAVE A REPLY