कोहिनूर ने कहा डरना है मरना

0
128

झांसी। महिला सशक्तिकरण सिर्फ आत्म निर्भरता या शिक्षित होने भर से नहीं होता है। सभी के इतने प्रयासों के बाद भी महिलाओं को आज भी बाजारों या सड़कों पर अकेले निकलना मुश्किल होता है। ऐसे में महिलाओं का सम्मान न करने वालों से बचाव के साथ ही उनको मुंहतोड़ जवाब देने में भी महिलाओं को सक्षम होना होगा। उक्त विचार कोहिनूर आलवेज ब्राइट की अध्यक्षा वैशाली पुंशी ने हैलोविन थीम ‘’डर के आगे जीत है ’’ टाइटल के साथ डरना मरना है पर एक सभा की अध्य क्षता करते हुए व्यक्त किए।
उन्होंने कहा कि कोहिनूर इसके लिए हमेशा प्रयासरत रहेगा। कार्यक्रम संयोजन काजल कुशवाहा और संचालन फाबिहा खान ने किया। सहसचिव भूमिका सिंह ने कहा कि इस थीम का उद्देश्य यह है कि आज के समय में नारी हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है, लेकिन उसके बाद भी उसे कदम कदम पर ऐसे शैतानों का सामना करना पड़ता है, जो आज भी महिलाओं का सम्मान नहीं करते हैं। दिव्या सक्सेना ने कहा कि नारी अगर ममता का स्वरुप है, तो वह काली का स्वरुप भी है। वह बुराई का नाश करने के लिए आज की नारी सब पर भारी है। इस मौके पर सिमरन चड्ढा, पूजा सुंदरानी, नेहा बरयानी, रोशनी जसनानी आदि मौजूद रहीं।

LEAVE A REPLY