उदयपुर- खजुराहो इंटरसिटी के इंजन में लगी आग

- हड़बड़ाहट में ट्रेन से कूदकर भागे यात्री, कोई हताहत नहीं - लगभग तीन घण्टे बाद दूसरे इंजन की मदद से ट्रेन को किया रवाना - रेल अधिकारियों ने दिए जांच के आदेश

0
160

झांसी। उत्तर मध्य रेलवे झांसी मंडल के महोबा घुटई रेलवे स्टेशन महोबा के पास उदयपुर-खजुराहो इंटरसिटी के इंजन में लगभग१२.३० बजे आग लग गई। सूचना फैलने से यात्रियों में हडक़म्प मच गया। सूचना मिलने पर सिविल पुलिस, आरपीएफ व जीआरपी के जवान मौके पर पहुंचे। मौके पर दमकल की दो गाडिय़ों को बुलाकर आग पर काबू पा लिया। इस घटना से रेल यातायात बाधित हो गया जिससे ट्रेन को दूसरे इंजन की मदद से लगभग तीन घंटे बाद रवाना किया गया।
जानकारी के अनुसार आज शनिवार की दोपहर लगभग 12:10 बजे जब खजुराहो से उदयपुर जा रही गाड़ी संख्या 19665 खजुराहो- उदयपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस जब कुलपहाड़ और हरपालपुर के मध्य चल रही थी। उसी दौरान घुटई स्टेशन के निकट किलोमीटर संख्या 1214/9 पर गाड़ी के इंजन में आग लगने की सूचना मिली। सूचना मिलते ही रेल प्रशासन द्वारा हरपालपुर एवं मऊरानीपुर में फायर ब्रिगेड को सूचना दी गयी। इसी मध्य लोको पायलट एवं सहायक लोको पायलट द्वारा लोको में उपलब्ध अग्निशामक यन्त्र की सहायता से आग पर काबू पा लिया गया। एहतियात के तौर पर हरपालपुर स्टेशन से स्टेशन मास्टर, गार्ड एवं अन्य उपस्थित रेलवे कर्मचारियों द्वारा तत्परता से कोच खाली कराये गए ताकि कोई अप्रिय घटना ना घटित हो। समय 12:42 पर हरपालपुर से फायर ब्रिगेड घटना स्थल पर पहुंची तथा आग को पूर्ण रूप से बुझाकर इंजन को गाड़ी से अलग कर दिया गया। इंजन के अलावा ट्रेन को किसी प्रकार का कोई अन्य नुकसान नहीं हुआ है। सभी यात्री एवं ट्रेन चालक सुरक्षित हैं। रेल प्रशासन द्वारा उक्त घटना की जांच के आदेश दिए गए हैं। दोपहर तीन बजे यातायात बहाल कर दिया गया। इसके उपरान्त दूसरा इंजन जोड़कर गाड़ी को सकुशल गंतव्य की और रवाना किया गया।
————————-

पल भर में ही कर देतीं हैं यात्रियों का सामान पार

चोरी का ट्राली बैग, मोबाइल व दो पासपोर्ट किए बरामद

झांसी। यात्रियों की नजर हटी और सामान चोरी करने वाली घुमंतू गिरोह की तीन महिलाओं को जीआरपी ने रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म से उस वक्त दबोच लिया, जब वह एक यात्री का ट्राली बैग लेकर चम्पत हो रहीं थीं। यह महिलाएं इतनी शातिर हैं कि यह गिरोह बनाकर अपने बच्चों को लेकर प्लेटफार्म व ट्रेनों में यात्रियों से भीख मांगतीं हैं। इन्हीं में से कुछ महिलाएं यात्रियों का ध्यान भटकाकर मौका मिलते ही उनका सामान लेकर चम्पत हो जाती हैं। महिलाओं पर आसानी से कोई शक भी नहीं करता है कि उनके भेष में कोई अपराधी भी है। इसी मौके का लाभ उठाकर वह आसानी से अपराध कर निकल जाती हैं।
पुलिस अधीक्षक रेलवे झांसी के निर्देशन में तथा प्रभारी निरीक्षक जीआरपी अजीत सिंह के नेतृत्व में उपनिरीक्षक अपने हमराह स्टाफ के साथ यात्रियों की सुरक्षा के मददेनजर झांसी स्टेशन के प्लेटफार्म क्रमांक ४/५ पर गस्त कर रहे थे। इसी दौरान उक्त प्लेटफार्म पर बैठी महिलाएं संदिग्ध नजर आयीं। खाकी वर्दी धारियों को देखकर उक्त महिलाएं जिनके पास ट्रॉली बैग था तेज गति से भागने लगीं। शक होने पर जीआरपी ने घेराबंदी कर उन्हे दबोच लिया। जिन्हे महिला आरक्षियों की मदद से थाना जीआरपी लाया गया। ट्राली बैग के सम्बध में जानकारी लेने पर वह कोई जवाब नहीं दे सकीं। इस पर महिला आरक्षियों ने उनकी जामातलाशी ली तो उनके पास से मोबाइल भी बरामद हुआ। जो उन्होंने एक यात्री का चोरी करना बताया। पूछताछ में पता चला कि उक्त ट्रॉली बैग और मोबाइल को चोरी किया था। ट्रॉली बैग में दो तिब्बती यात्रियों के पासपोर्ट मिले हैं। उक्त ट्राली बैग भी उन्होंने ट्रेन से चोरी करना स्वीकार किया। महिलाओं ने अपना नाम अंजली, संगीता और रोशनी निवासी ग्वालियर बताया। महिलाओं के अनुसार वह ट्रेन में पहले चढ़ती हैं और फिर मौके की तलाश में रहती। जैसे ही मौका मिलता वह यात्रियों का सामान चोरी कर भाग जातीं है। जीआरपी ने तीनों महिलाओं के खिलाफ सम्बधित धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।

पहले भी पकड़ीं जा चुकी महिलाएं

रेलवे स्टेशन से पूर्व में भी महिलाओं के गिरोह को जीआरपी पकड़ चुकी है। यह महिलाएं घुमंतु गिरोह की है, जिनका ठिकाना एक जगह नहीं रहता है। यह महिलाएं घटना को अंजाम देने के बाद उस स्थान को छोड़ देतीं हैं। यह महिलाएं ट्रेन में उस समय यात्रियों को निशाना बनाती हैं जब कोच में ज्यादा भीड़ रहती है। ट्रेन में चढ़ते वक्त महिला यात्रियों का पर्स खोलकर उसमें से सारा सामान निकालकर चम्पत हो जातीं है। यह घटना को अंजाम देने के बाद अपनी अन्य साथियों को चोरी का सामान दे देतीं है, जो मौका पाकर घटना स्थल से भाग जाते हैं। इससे इन पर किसी को शक भी नही होता है।
————————–

फर्जी रेल टिकट बनाने के आरोप में युवक पकड़ा

आरपीएफ ने कम्प्यूटर व 6 रेल टिकट किए बरामद

झांसी। ट्रेनों के टिकट की कालाबाजारी की मिल रही लगातार शिकायतों को गम्भीरता से लेते हुए आज झांसी आरपीएफ ने थाना नवाबाद पुलिस के साथ मिलकर एक कम्प्यूटर की दुकान पर छापा मारा। जहां से एक युवक समेत एक कम्प्यूटर सिस्टम को कब्जे में ले लिया। आरपीएफ ने उसके पास से विभिन्न स्थानों के 6 टिकट बरामद कर आरोपी के खिलाफ कार्यवाही की है।
जानकारी के अनुसार वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त रमेश चंद के निर्देशन एवं झांसी स्टेशन पोस्ट प्रभारी अशोक यादव के नेतृत्व में आरपीएफ के उपनिरीक्षक ने नबाबाद पुलिस के साथ मिलकर आईआरसीटीसी की सूचना पर अपने हमराह के साथ मिलकर कचहरी चौराहे पर स्थित एक कम्प्यूटर की दुकान पर छापा मारा। जिससे वहां हडक़म्प मच गया। आरोप था कि वह ई-टिकट पर निर्धारित शुल्क से अधिक वसूल रहा था। टीम ने मौके से एक कम्प्यूटर और युवक को पकड़ा, आरोपी का नाम यूसुफ पुत्र इस्माइल निवासी अलीगोल खिडक़ी थाना कोतवाली बताया। पकड़े युवक और कम्प्यूटर को आरपीएफ अपने साथ थाने ले आए। आरपीएफ ने बताया कि आरोपी अपनी निजी आईडी बनाकर लोगों के रेलवे टिकट बनाकर व्यापार कर रहा था। आरोपी के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया गया।
——————————-

LEAVE A REPLY