आखिर क्‍यों आया जिलाधिकारी को गुस्‍सा

अलग अलग विभागों में जिलाधिकारी के निरीक्षण से मचा हड़कम्प

0
166

झांसी। आमतौर पर अधिकारियों की बैठक लेकर निर्देश देनेे के स्‍थान पर जिलाधिकारी ने जब शुक्रवार को विभिन्‍न विभागों का निरीक्षण किया, तो वहां की खामियां देखकर उन्‍होंने काफी नाराजगी जताई। जहां सही मिला वहां और अच्‍छा करने के निर्देश दिए, तो गड़बड़ियां पाए जाने पर शिक्षा विभाग के कई अधिकारियों व बाबूओं पर उनके गुस्‍से का कहर टूटा और एक के बाद एक कईयों को प्रतिकूल प्रविष्‍टी के साथ कारण्‍ा बताओ नोटिस भी जारी किया गया।

जिला अस्पताल में मरीजों से बात कर दवाओं व खाने की ली जानकारी

झांसी। जिलाधिकारी शिव सहाय अवस्थी सुबह लगभग 9 बजे जिला अस्पताल पहुंच गए, सुबह सुबह जिलाधिकारी को वहां देखकर अधिकारियों व चिकित्सकों में हड़कम्प मच गया। इस दौरान जिलाधिकारी ने वार्डों का निरीक्षण, मरीजों से बातचीत की और स्थिति को जाना। वहां से वह रेडक्रास सोसाईटी भवन पहुंचे और कण्डम वाहनों को हटाने के निर्देश दिए।
जिला अस्पताल में जिलाधिकारी ने दवा वितरण को और बेहतर बनाये जाने के निर्देश दिये ताकि मरीज व तीमारदारों को लम्बे समय तक लाइन में न लगना पड़े। उन्होंने महिला चिकित्सालय में पंजीकरण कक्ष को और अच्छा बनाये जाने के निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने औषधि भण्डार के पास जो रिकार्ड फाइल रखी है। उन्हें वहां से हटाते हुये सुरक्षित रखे जाने के निर्देश दिये, उन्होंने कहा कि जो भी अनावश्यक वस्तु रखी है उसे हटा दी जाये। उन्होंने आकस्मिक विभाग, बाल रोग ओपीडी, एआरवी कक्ष तथा कुत्ता काटने वाले मरीज की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि दवायें अस्पताल से ही दी जाये कोई दवा बाहर से खरीदी न की जाये। महिला वार्ड में जिलाधिकारी ने श्रीमती विमला निवासी पीला गिरजाघर नन्दनपुरा जो पलंग नं.6 पर भर्ती थीं से बात की तथा दवायें व खाने की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि आप से कोई पैसे तो नहीं मांगता है यदि है तो बतायें। उन्होंने सर्जिकल वार्ड महिला का निरीक्षण किया तथा वहां शौचालय की सफाई आदि को भी देखा।


उसके बाद जिलाधिकारी शिवसहाय अवस्थी रेडक्रास सोसायटी भवन पहुंचे। वहां रखे कण्डम वाहनों को तत्काल हटाये जाने के आदेश दिये। निरीक्षण के समय समाजसेवी पियूष नायक ने क क्ष कि यदि को सुधार दिया जाये, तो यहां से आपदा प्रबन्धन के कार्य आसानी से किये जा सकेंगे। निरीक्षण के समय रेडक्रास सोसायटी के सदस्यगण भी उपस्थित रहे। जिलाधिकारी शिवसहाय अवस्थी ने राइफल क्लब का भी निरीक्षण किया तथा और कैसे उसे बेहतर किया जाये ताकि उसका अधिक से अधिक लाभ लिया जा सके उसका प्रस्ताव बनाये जाने के निर्देश दिये। इस मौके पर सीएमएस पुरूष डा. आरएस गुप्ता, सीएमएस महिला डा. पीके खत्री, डा. गणेश कुमार, रवीश त्रिपाठी, पं. हरिओम पाठक आदि उपस्थित रहे।
:::::::::::::::::

शिक्षा भवन में विभिन्न विभागों की स्थिति पर जताई नाराजगी

डीआईओएस व बीएसए सहित कईयों को प्रतिकूल प्रविष्टी

झांसी। जिलाधिकारी शिवसहाय अवस्थी ने सुबह 11.15 बजे शिक्षा भवन स्थित जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय व बेसिक शिक्षाधिकारी कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। वहां मौजूद हालात को देख सख्त नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कार्यालय का समुचित रखरखाव न होने पर अधिकारियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही के आदेश दिये। साथ ही पत्रावलियोें का सही रख रखाव न होने पर पत्रावलियों को कार्यवाही के लिये लम्बित रखने पर तथा कार्यालय में अनुपस्थित होने पर व बिना भ्रमण पंत्रिका में दर्ज किये कार्यालय से बाहर जाने पर भी अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही के आदेश दिये।
जिलाधिकारी ने डीआईओ एस डा. एनके पाण्डेय व बीएसए हरिवंश कुमार को आफिस का सही रख रखाव न होने व व्यापक गंदगी पाये जाने पर प्रतिकूल प्रविष्टी दिये जाने के निर्देश दिये। बीएसए कार्यालय में फाइलों के सही ढंग से रख रखाव न करने पर कनिष्ठ सहायक गौरव तिवारी, कनिष्ठ सहायक मनोज सक्सेना तथा स्टेनोें राम सिंह को भी प्रतिकूल प्रविष्टी दिये जाने के निर्देश दिये। वरिष्ठ लिपिक राजबहादुर व वरिष्ठ सहायक अजय सिंह को भी प्रतिकूल प्रविष्टी दिये जाने के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान एबीएसए सुश्री दीप्ती रिछारिया, हैड क्लर्क संतोष कुमार, दिलीप शर्मा के अनुपस्थित रहने पर एक दिन का वेतन काटे जाने के साथ ही स्पष्टीकरण लिये जाने के निर्देश दिये। कार्यालय भ्रमण से पूर्व जिलाधिकारी ने राजकीय पुस्तकालय का निरीक्षण किया, उन्होंने इसे मार्डन लाइबे्ररी विकसित करने के लिये स्मार्ट सिटि में टेक अप करने के निर्देश दिये। उन्होंने पुस्तकालय के चारों ओर ग्रीन बैल्ट विकसित करने का भी सुझाव दिया। जिलाधिकारी शिव सहाय अवस्थी ने औचक निरीक्षण करते हुये कहा कि पूर्व में जानकारी दी जा चुकी थी कि कार्यालय का रख रखाव कैसे किया जाना है। पत्रावलियों को कैसे संरक्षित किया जाना है, परन्तु निरीक्षण में जो आदेश दिये गये उनका अनुपालन नहीं किया गया यह बेहद खेदजनक है। इस मौके पर एडी बेसिक मनोज कुमार द्विवेदी, डीआईओएस डा. एनके पाण्डेय आदि उपस्थित रहे।
————–

डीआईओएस को ले डूबी उनकी समझदारी

जानकारों के अनुसार जिलाधिकारी शिक्षा भवन में स्‍थित पुस्‍तकालय का निरीक्षण करने गए थे, लेकिन वहां पहुंचे डीआईओएस डॉ. पाण्‍डेय जिलाधिकारी को अपने कार्यालय ले गए। वहां की खस्‍ताहालत देखकर जिलाधिकारी का पारा हाई हो गया और उन्‍होंने उसके बाद वहां के अन्‍य विभागों का भी निरीक्षण करते हुए कई अधिकारियों काेे प्रतिकूूूल प्रविष्‍टी ही नहीं दी। एक जांच समिति तय कर तमाम जांच कराए जाने के निर्देश भी दिए।

LEAVE A REPLY