दक्षिणी सैन्य कमांडर ने शक्तिशाली कैवलियर्स को दी श्रद्धांजलि

0
78

झांसी। लेफ्टिनेंट जनरल डीआर सोनी, पीवीएसएम, वीएसएम, एडीसी, जीओसी-इन-सी दक्षिणी कमांड द्वारा 12 जुलाई से 15 जुलाई तक झाँसी और बबीना स्टेशनों की सामरिक तैैयारियों का आकलन किया जा रहा है। इस दौरान व्हाइट टाइगर युद्धस्मारक पर उन्‍होंने शुक्रवार को शहीदों को श्रद्धांजलि दी, जोकि झाँसी के हाथी मैदान में स्थित है और जिसे घुड़सवार के निवास के रूप में जाना जाता है।
झाँसी और बबीना भारतीय सेना के आर्मड डिविजन के अजेय स्टेशन है। युद्धस्मारक पर चमकते समारोह में, जहाँ पर सफेद टाइगर एक चट्टान पर बैठा हुआ है, जो मैकेनाइज्ड सेना की ताकत और खूंखारपन का प्रतीक है। वहां दक्षिणी सेना कमांडर ने अपने वीर नायको को श्रदांजलि अर्पित की। उसके बाद वह फॉरमेशन के अधिकारियों, सरदार साहेबान और अन्य पदों पर कार्यरत अधिकारियों से मिले और कई मुद्दों पर अपने विचार व्यक्त किए।
डिविजन के वीर योद्धाओंं की सराहना करते हुए कहा कि जो हमारे देश का नेतृत्व करते है। सफेद टाइगर युद्ध स्मारक, डिविजन के चरित्र की ताकत और दृढ़़ता को दर्शाता है। लेफ्टिनेंट जनरल डीआर सोनी, पीवीएसएम, वीएसएम, एडीसी, जीओसी-इन-सी दक्षिणी कमांड काा लेफ्टिनेंट जनरल आरपी सिंह, एवीएसएम, वीएसएम, जीओसी 21 कोर के साथ दौरा बहुत ही महत्वपूर्ण रहा। यह उच्च सैन्य नेतृत्व के लिए बहुत महत्वपूर्ण है और देश की मैकेनाइज्ड सेनाओं को शक्ति प्रदान करता है।

LEAVE A REPLY