गोलीकाण्‍ड फॉलोअप: सरदार या कोई और…

0
299

सम्‍पादकीय टीम के सदस्‍य मदन यादव की रिपोर्ट

झांसी। बीतेे रोज बुंदेलखंड के झांसी जनपद मेंं कचहरी चौराहा पर हुुए गोलीकांड की परतें अभी तक अनसुलझी हैैंं। पुलिस बिल्‍डर व सर्राफा व्‍यवसायी संजय वर्मा के पुराने दुश्‍मन सरदार सिंंह गुर्जर को केन्‍द्रित कर अपनी जांच आगे बढ़ा रही है। मगर सरदार एण्‍ड कम्‍पनी फिलहाल जेल में है, तो क्‍या इस हत्‍याकाण्‍ड की साजिश जेल की चारदीवारों में रची गई थी, या फिर कोई तीसरा ही है जो इन दोनों पुराने दुश्‍मनों की रंजिश की आग में अपने फायदे की रोटियां सेंकना चाह रहा है। उधर, संजय वर्मा के पुुुत्र की सूचना पर पुलिस ने एक दर्जन हमलावरों के खिलाफ गम्‍भीर धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है। जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमें लगातार दबिश दे रही हैं।

और भी हैं संजय वर्मा के दुश्‍मन

बिल्‍डर व सर्राफा व्‍यवसायी संजय वर्मा का भी आपराधिक इतिहास बीतेे रोज पुलिस विभाग ने जारी किया था, जिसके अनुसार संजय वर्मा पर हत्‍या, जबरन कब्‍जा करने, मारपीट व धमकााााने के साथ ही गुण्‍डा एक्‍ट के मामले दर्ज हैं। ऐसे में पुलिस की जांच की सुई सरदार सिंह के साथ साथ संजय वर्मा के अन्‍य दुश्‍मनों की ओर भी घूम रही हैैै। सभी सम्‍भ्‍ाावित लोगों को जांच के दााााायरे में रख कर पुलिस बारिकी से कदम उठा रही हैैै।

पुलिस मुख्‍यालय तक गोली काण्‍ड की गूंंज

बीते रोज हुए इस दुस्‍साहसिक घटना क्रम की गूंज पुलिस मुख्‍यालय तक पहुंच गई है। डीजीपी ने एसएसपी झांसी को जल्‍दी ही आरोपियों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं। अपने अालाकमान के हस्‍तक्षेप के बाद झांसी पुलिस ने मुखबिर तंत्र को सक्रिय कर दिया है और आरोपियों पर दबाव बनाने के सारे हथकण्‍डे इस्‍तेमाल किए जा रहे हैं। ताकि हमलावर जल्‍दी से सलाखों के पीछे हों।

इनके खिलाफ लिखा गया मुकदमा

हमले में घायल हुए बिल्‍डर व सर्राफा व्‍यवसायी संजय वर्मा के बेटे संचित वर्मा ने थाने की पुलिस को सूचना देते हुए बताया कि उसके पिता व अन्‍य पर हमला कुख्यात अपराधी सरदार सिंह गुर्जर के इशारे पर उसके परिवार के सदस्यों व गुर्गों ने किया है। संचित के अनुसार हमलावरों में चतुरयाना निवासी सोनू गेडा, रिंकू गेडा, बाॅबी गेडा, लकारा निवासी अंंकित गुर्जर, अंगद गुर्जर, राघवेन्द्र गुर्जर, शिवेन्द्र गुर्जर, पुष्पेन्द्र सहित अन्य पांच लोग शामिल है। पुलिस ने सूचना के आधार पर हमलावरों के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 302, 307 व 506 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

गिरफ्तारी के लिए कई टीमें बनाईं गईं

एसएसपी विनोद कुमार सिंह ने नामदर्ज आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कई पुलिस टीमों का गठन किया है। पुलिस टीमें सभी सम्‍भावित स्‍थानों पर लगातार दबिश दे रही हैं। फिर भी अभी तक उनके हाथ कोई सुराग नहीं लग सका है। आरोपी फिलहाल पुलिस पकड़ से दूर हैं।

अपने समाचार देने, व्‍यापार का प्रमोशन कराने, एशिया टाईम्‍स से जुड़ने के लिए सम्‍पर्क करें:-

ईमेल आईडी :- mishra.sumitk@gmail.com और व्‍हाट्स अप नम्‍बर 9415996901

LEAVE A REPLY