वाहन रैली निकालकर बताया क्यों चाहिए बुन्देलखण्ड

0
97

झांसी। बुन्देलखण्ड राज्य निर्माण तीन साल के भीतर बनाये जाने का वादा प्रधानमंत्री मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, क्षेत्रीय सांसद व केन्द्रीय मंत्री सुश्री उमाभारती ने बुन्देलखण्ड की जनता से किया था। वादा साढ़े चार साल पूर्व होने को आये, अभी तक क्रेन्द व राज्य सरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंगा, जिससे बुन्देलखण्डवासियों को हताशा व निराश होकर बुन्देलखण्ड राज्य निर्माण के लिए संघर्षरत सभी घटकों ने संयुक्त मोर्चा का गठन कर 17 सितम्बर से गांधी उद्यान झांसी में सामूहिक सत्याग्रह प्रारम्भ किया था।
सत्याग्रह के 63 वें दिन बुन्देलखण्ड संयुक्त मोर्चा के तत्वावधान में सत्याग्रह स्थल से गांधी उद्यान से सैकड़ों वाहनों द्वारा वाहन जुलूस निकाला। यह जुलूस गांधी उद्यान से प्रारम्भ कर सदर बाजार, एवट मार्केट, तालपुरा, कसाई मण्डी, ओरछा गेट, सुभाष गंज, बड़ा बाजार, गन्धीगर का टपरा, सर्राफा, मानिक चौक, सिन्धी तिराहा, पचकुईयां, सुभाष मूर्ति नन्दनपुरा, खाती बाबा, नगरा, हाट का मैदान, पुलिस नं0-9, डांडी यात्रा, डीआरएम आफिस के सामने, अशोक हाता, इलाईट चौराहा होते हुए सत्याग्रह स्थल पर वाहन रैली पर समापन किया गया। जुलूस के दौरान व्यापारियों में बुन्देलखण्ड राज्य निर्माण के प्रति सड़क पर एकत्रित होकर जुलूस को रोककर जोरदार नारेबाजी कर समर्थन कर प्रदर्शन किया। व्यापारियों ने स्वयं जुलूस का नेतृत्व करने वाले 26 नवम्बर को स्वेच्छा से अपना प्रतिष्ठान बन्द करने का आश्वासन दिया। अनेकों व्यापारियों ने तो यहां तक कहा अगर हम सत्ता में बैठाने का कार्य कर सकते हैं, तो सत्ता से बेदखल करने का कार्य भी कर सकते हैं। वाहन जुलूस में प्रमुख रूप से डॉ. बाबूलाल तिवारी, भानूसहाय, संजय सुयोग शर्मा, शरद प्रताप सिंह, दिनेश भार्गव, रघुराज शर्मा, उधम सिंह, राजेन्द्र कुशवाहा, गौरी शंकर बिदुआ, प्रागीलाल राजन, वरूण अग्रवाल, गिरजा शंकर राय, उत्कर्ष साहू, मकबूल हुसैन सिददीकी, रिजवान राईन, अनिल रायकवार, सत्येन्द्र श्रीवास्तव, , हमीदा अन्जुम, देवी सिंह कुशवाहा, सुभम गौतम, अखलाक मकरानी, कुंवर बहादुर आदिम, राजपाल बुन्देला, अरूण राकयवार, विजय रायकवार, शंकर रायकवार, प्रभुदयाल कुशवाहा, घनश्याम गौतम, प्रदीप झा, बन्टी दुबे, सी0डी0 लिटोरिया, नरेश वर्मा, गोलू ठाकुर, मो0 आमीर, गोविन्द सोनकर, विजित कपूर, रीतेश कोष्ठा, अन्नू मिश्रा, हनीफ खान आदि ने सहभागिता निभाकर वाहन रैली को सफल बनाया।

LEAVE A REPLY