पल में कर देते थे मोबाईल, बैग और ज्‍वैलरी पार

0 प्लेटफार्म व ट्रेनों में चोरी करने वाला गिरोह पकड़ा, 0 ट्रॉली बैग, मोबाइल फोन, सोने चांदी के जेवरात बरामद

0
107

झाँसी। रेलवे सुरक्षा बल और राजकीय रेलवे पुलिस ने प्लेटफार्म व ट्रेनों में चोरी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया। गिरोह के चार सदस्यों को गिरफ्तार कर उनके पास से पिट्ठू बैग, ट्रॉली बैग, मोबाइल फोन व सोने चांदी के जेवरात आदि सामान बरामद किया। यह गिरोह काफी दिनों से चोरी की वारदातों को अंजाम दे रहा था। सीसीटीवी कैमरे में आए फुटेज के आधार पर उक्त आरोपियों को पकड़ने में सफलता हासिल हुई है। चारों अभियुक्तों को अदालत में पेश कर जेल भेजा गया।
रेल सुरक्षा बल के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त श्रीमती सारिका मोहन, पुलिस अधीक्षक रेलवे पीके मिश्र, सीओ रेलवे राजपाल सिंह के निर्देश पर रेल सुरक्षा बल और जीआरपी टीम चोरी की वारदातों को अंजाम देने वाले गिरोह की तलाश में लगे हुए थे। बीते रोज सूचना मिली कि गिरोह के चार बदमाश प्लेटफार्म और ट्रेनों में चोरी की वारदातों को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं। सूचना पर पहुंची टीम ने प्लेटफार्म नंबर 4/5 के पास से चारों को पकड़ लिया। चारों आरोपियों को थाने लाकर उनसे गहराई से पूछताछ की गई। पूछताछ के दौरान कई चोरी की वारदातों को अंजाम देने की बात स्वीकार की। इनकी निशानदेही पर टीम ने चोरी का माल बरामद कर लिया। रेलवे पुलिस के मुताबिक एक मोबाइल फोन, एक पिट्ठू बैग, एक ट्रॉली बैग, और एक ज्वैलरी बैग इनके पास से मिला, जिसमें सोने का मंगलसूत्र, एक जोड़ी कान के टॉप्स, चांदी की तीन जोड़ी पायल व चार बिछिया आदि माल बरामद किया। बरामद माल की कीमत दो लाख से अधिक आंकी गई।

यह बदमाश आए पुलिस की गिरफ्त में

बांदा के पैलानी क्षेत्र में रहने वाले हरिश्चंद्र निषाद, कोतवाली थाना क्षेत्र के तलैया मोहल्ले में रहने वाले अम्‍बर शर्मा, मुरैना के मताबसैया के सुइलेखापुर निवासी राम प्रकाश जाटव व दतिया के होलीपुरा निवासी लखन सिंह को गिरफ्तार कर लिया। इसमें निषाद मोबाइल फोन चोर, शर्मा बैग चोर व जाटव/सिंह ज्वैलरी चोर है। वहीं पुलिस के अनुसार अम्‍बर शर्मा झांसी के तलैया मोहल्ले का रहने वाला है। मगर उसके माता-पिता की मौत के बाद वह मुंबई भाग गया था। कुछ दिन मुंबई रहने के बाद झाँसी में आकर तमाम रिश्तेदार के यहां निवास करता था। वह झांसी के ही एक मिशनरी कालेज का छात्र भी था, मगर पैसा न होने के चक्कर में वह चोर बन गया। झाँसी रेलवे स्टेशन पर रुक कर वह बैग चोरी की घटनाएं करना लगा था। बताते हैं कि वह अंग्रेजी भाषा में रेलयात्रियों को फंसा लेता है। मौका देख सूटकेस पार कर देता था। बीते रोज रेल सुरक्षा बल की टीम ने सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से अम्‍बर शर्मा को पकड़ा था। इसी तरह उसने मुंबई में चोरी की वारदातें भी की है।

पुलिस टीम को मिली सफलता

रेल सुरक्षा बल के स्टेशन प्रभारी निरीक्षक एके यादव, उपनिरीक्षक पीएस परिहार, आरक्षक रुदल साहनी, धीरज तिवारी, नीतेश कुमार, राजकुमार वर्मा, जीआरपी इंस्पेक्टर अजीत कुमार सिंह, उपनिरीक्षक विनय कुमार साहू व आरक्षक कुलदीप शामिल रहे हैं। रेल सुरक्षा बल के वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त श्रीमती सारिका मोहन ने चोरी की रोकथाम हेतु झाँसी स्टेशन पर एक टीम का गठन किया था। इस टीम का प्रभारी उपनिरीक्षक पीएस परिहार को बनाया गया। इसी टीम में आरक्षक रुदल साहनी, धीरज तिवारी, नीतेश कुमार और राजकुमार वर्मा सदस्य है। टीम ने कुछ दिनों में अच्छे गुडवर्क किये। इसकी सूचना रेल सुरक्षा बल के प्रधान मुख्‍य सुरक्षा आयुक्त व वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त को दी गई। आईजी ने उक्त टीम को इनाम देने की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY