पढ़ाई के नाम पर बच्चों की जिंदगी से कर रहे हैं खिलवाड़

0
91

हमीरपुर। कुरारा के प्राथमिक विद्यालय में पेन और कॉपी हाथों में देने की बजाय बच्चों से गोबर लिपवाया जा रहा है। प्राथमिक विद्यालय कार्रवाई होने के बाद भी सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं। पिछली कार्यवाही में बीएसए ने सुमेरपुर विद्यालय की टीचरों की एक एक महीने की सैलरी रोक दी थी। उसके बाद भी कोई असर नहीं हो रहा है।
मामला जनपद हमीरपुर के ब्रह्मा का डेरा का है, जहां पर प्राथमिक विद्यालय में पढ़ाई करने पहुंचे बच्चों से प्रधानाध्यापक स्कूल में गोबर लिपाई करवाते हैं। उन बच्‍चों से झूठे बर्तन धोने को कहा जाता है। स्‍कूल में जाकर देखा जा सकता है कि बच्चे गोबर से स्कूल में लिपाई कर रहे हैं। जब इस पर बच्चों से पूछा तो उन्होंने कहा हमारे प्रिंसिपल ने ही हमसे कहा था। वहीं स्कूल में मौजूद एक महिला अध्यापक से इस बारे में बात की गई, तो उसने भी बताया कि यह काम प्रधानाध्यापक के कहने पर हो रहा है। शिक्षा विभाग अधिकारी बीएसए से इस संबंध में बात की गई तो उन्‍होंने बताया कि पिछली बार स्कूलों पर कार्रवाई करते हुए प्राथमिक विद्यालयों की एक महीने की सैलरी रोक दी गई थी। इस बार मामले में जांच कराई जा रही है और जांच में दोषी पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

राठ से संवाददाता मोहम्मद मुख्तार

LEAVE A REPLY