कुछ पढ़ लो, आसान नहीं होगा बोर्ड परीक्षा में नकल करना और कराना

0
142

झांसी: नकलविहीन व शुचिता के साथ बोर्ड परीक्षा होगी, यदि नकल हुई तो जेल जाना पक्का, परीक्षा में हुई गड़बड़ी की जांच एसटीएफ द्वारा करायी जाएगी। परीक्षा कक्ष में बदनाम कक्ष निरीक्षक न लगाये अन्यथा कार्यवाही की जाएगी। परीक्षा केन्द्र के प्रत्येक कक्ष में सीसीटीवी कैमरा और वायस रिकार्डर लगातार चालू रहेंं, अधिकारी भ्रमण के दौरान यह अवश्य सुनिश्चित कर लें। परीक्षार्थी मोबाइल फोन व अन्य कोई इलैक्ट्रानिक गजट कक्ष में न ले जाए, परीक्षा के पूर्व संघन चैकिंग कर ली जाए। लड़कियों की चैकिंग महिला अध्यापिका द्वारा सुनिश्चित करायी जाए।
यह निर्देश जिलाधिकारी शिव सहाय अवस्थी ने सात फरवरी से उ0प्र0 माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रयागराज द्वारा आयोजित हाईस्कूल/इण्टरमीडिएट परीक्षा वर्ष 2019 की तैयारियों पर चर्चा करते हुए उपस्थित प्रधानाचार्य/केन्द्र व्यवस्थापक व सेक्टर/स्टैटिक मजिस्ट्रैट को दिए।

उन्होने कहा कि शासन माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा आयोजित हाईस्कूल/इण्टरमीडिएट परीक्षाओं में नकल की प्रवृत्ति/सम्भावनाओं पर अंकुश लगाने, परीक्षा की शुचिता, पवित्रता, गुणवत्ता एवं विश्वनीयता तथा विधि व्यवस्था बनाये रखने हेतु कटिबद्व है। इसमें यदि कोई लापरवाही अथवा शिथिलता बरती जाती है तो सख्त कार्यवाही की जाएगी। जिलाधिकारी ने कहा कि संवेदनशील व अतिसंवेदनशील परीक्षा केन्द्रों पर पर्याप्त पुलिस बल मुस्तैद रहेगा ताकि किसी भी अप्रिय घटना से बचा जा सके। उन्होने ऐसे केन्द्रों पर सेक्टर व जोनल सेक्टर मजिस्ट्रेट को लगातार भ्रमण करने के निर्देश दिए। परीक्षा में शामिल परीक्षार्थियों के अभिभावक किसी भी दशा में स्कूल परिसर में नही रहेगे, यह केन्द्र व्यवस्थापक सुनिश्चित कर ले।
जिलाधिकारी ने बोर्ड परीक्षा की शुचिता व पारदर्शिता के लिए निर्देश दिए कि स्कूल के बाहर खुली हुई खिड़कियों को बंद करा दिया जाए। उन्होंंने कक्ष के सीसीटीवी कैमरे और वायस रिकार्डर की भी जांच करने के निर्देश देते हुए कहा कि सीसीटीवी कैमरे और वायस रिकार्डर लगातार कार्यरत रखे ताकि सारी रिकार्डिंग सही ढंग से हो सके। परीक्षा केन्द्र के समीप फोटोस्टेट मशीन व इन्टरनेट की दुकाने बंद कराने के भी निर्देश दिए। उन्होने कहा कि यदि परीक्षा मे नकल की शिकायत मिलती है तो सम्बन्धित को सीधे जेल भेजा जाएगा। उन्होने स्कूल में बाहरी आदमी के प्रवेश पर भी रोक लगाते हुए कहा कि यदि जांच में पाया जाता है तो कार्यवाही की जाएगी। परीक्षा की तैयारियों को लेकर बैठक में जिला विद्यालय निरीक्षक डाॅ. नीरज कुमार पाण्डेय ने बताया कि उ0प्र0 माध्यमिक शिक्षा परिषद प्रयागराज द्वारा आयोजित हाईस्कूल/इण्टरमीडिएट परीक्षा वर्ष 2019 की सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गयी है। परीक्षा में कुल 47759 परीक्षार्थी शामिल हो रहे है। जिसमें हाईस्कूल के 26535 तथा इण्टरमीडिएट 21224 परीक्षार्थी शामिल है। उन्होने बताया कि जनपद में 63 परीक्षा केन्द्र बनाये गये है। जनपद मेेंं एक परीक्षा केन्द्र अतिसंवदेनशाील तथा 5 संवेदनशील केन्द्र चिन्हित किये गये है, सम्बन्धित केन्द्रों पर पर्याप्त पुलिस बल के साथ अन्य व्यवस्थाये पूर्ण कर ली गयी है। उन्होने बताया कि परीक्षा की शुचिता, पारदर्शिता और गुणवत्ता बनाये रखने के लिए जनपद में 7 जोनल मजिस्ट्रेट बनाये गये है। इसके साथ जनपद को 13 सेक्टरों में विभाजित करते हुए सेक्टर तैनात किये गये, साथ ही 63 स्टैटिक सेक्टर मजिस्ट्रेट तैनात किेया जा चुके है, जो लगातार अपने सेक्टर में मौजूद रहेगे। परीक्षा केन्द्रों पर नकल न हो उसके लिए 5 सचल दल गठित किये गये है। उन्होने बताया कि परीक्षा में कक्ष निरीक्षक माध्यमिक शिक्षा परिषद 2200 व बेसिक शिक्षा परिषद 975 की तैनाती की गयी जो परीक्षा की शुचिता व पारदर्शिता को सुनिश्चित करेगे।
इस मौके पर अपर जिलाधिकारी हरी शंकर, नगर मजिस्ट्रेट राम प्रकाश, उप जिलाधिकारी सदर अनुनय झा, जिला विकास अधिकारी उग्रसेन सिंह यादव, पीडीडीआरडीए डाॅ. आर.के. गौतम, प्रधानाचार्य उस्मान खान आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY