कम उम्र वालों को शराब दी तो होगी कार्रवाई

0
71

झाँसी। जिले के सभी देशी व विदेशी मदिरा की दुकानों व माडल शाप का निरीक्षण किया गया। विक्रेताओं को विशेष हिदायत दी गई किशोर उम्र वालों को जांच के बाद शासन को रिपोर्ट भी प्रेषित की जाएगी।
आबकारी विभाग की प्रमुख सचिव कल्पना अवस्थी के निर्देश पर जिले में भी शराब की दुकानों पर छापेमारी की गई। जिला आबकारी अधिकारी का कहना है कि थोड़ी बहुत गड़बड़ी को छोड़कर कोई विशेष खामी पकड़ में नहीं आई। जिले में शराब की कुल 374 दुकानें हैं। इनमें 72 अंग्रेजी शराब व 245 देसी शराब की दुकानें हैं। वहीं सात मॉडल शॉप व 57 बीयर की दुकानें हैं। जिला आबकारी अधिकारी एम पी सिंह ने बताया कि जांच अभियान को जिले में सात टीमें गठित की गई थीं। टीमों की अध्यक्षता तहसील स्तर के एसडीएम कर रहे थे। इसके अलावा टीमों में तहसीलदार व आबकारी विभाग के अधिकारी व कर्मचारी शामिल थे। निरीक्षण के दौरान आबकारी विभाग की दुकानों पर निकासी पासबुक, परिवहन पास, स्टाक रजिस्टर आदि की जांच की गई। विक्रेताओं को हिदायत दी गई कि वे अन्य प्रदेशों व मिलावटी शराब की बिक्री बिल्कुल न करें। इसके अलावा किशोर उम्र के लोगों को कदापि शराब न बेचें और दुकानों के आसपास लोगों को सार्वजनिक स्थल पर शराब पीने से मना करें। ऐसा करते पाए जाने पर उनके विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया है कि चेकिंग के दौरान कुछ दुकानों पर स्टॉक का रखरखाव ठीक नहीं मिला। कहीं बोर्ड पर दाम लिखे नहीं थे। जिले में कहीं भी ओवररेटिंग व गलत शराब बिकती नहीं मिली। जिन दुकानों पर अनियमितताएं मिली हैं उन पर जुर्माना लगाया जाएगा।

दुकानों पर नहीं लिखी कीमतें

एक तरफ आबकारी विभाग है जिसे चेकिंग में गड़बड़ियां नजर ही नहीं आई। जबकि सूरत ए हाल यह है कि दुकानों के बाहर स्टॉक लिखना तो दूर, शराब के दाम तक नहीं लिखे जाते। अधिकांश दुकानों का संचालन मेसर्स एक्यूरेट फ्रूडस एण्ड ब्रेवरेजेज प्राइवेट लिमिटेड की तरफ से किया जाता है। इस ग्रुप का आबकारी विभाग से तालमेल छिपा नहीं है।

LEAVE A REPLY