ब्यूटी विद ब्रेन : माइक्रोबायोलोजिस्ट बनी मोस्ट ग्लैमरस मिसेज यूपी

0 यह हैं अधिवक्ता माता पिता की सुपुत्री और एक चिकित्सक की पत्नी

0
630

झांसी। दो पु़त्रियों की मां, होने के बावजूद खुद को यूं संवारा कि यूपी की मोस्ट ग्लैमरस का खिताब जीतकर ही मानीं। यह अधिवक्ता माता पिता की बेटी और एक चिकित्सक की पत्नी होने के साथ ही खुद माइक्रोबायलोजिस्ट भी हैं।
फैजाबाद निवासी वरिष्‍ठ अधिवक्ता अनिल त्रिपाठी व षैल त्रिपाठी की सुपुत्री व मेडिकल कॉलेज में सेवारत वरिष्‍ठ कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ. अंशु गोयल की धर्मपत्नी दीपिका त्रिपाठी स्नातक और परास्नातक दोनों में ही गोल्ड मेडलिस्ट रहीं और पढ़ाई के साथ ही साथ नृत्य, गायन रैम्प वॉक आदि में भी अपने को समय समय पर परखती रहती थीं। इस सम्बंध में दीपिका त्रिपाठी ने एशिया टाइम्स डाट इन की टीम को बताया कि वह शुरु से ही निर्भीक, साहसी व अत्यंत स्वाभिमानी रही हैं। किसी भी कार्य को ठान लेती हैं, तो पूरा करके ही छोड़ती हैं। केन्द्रीय प्रदूषण बोर्ड लखनऊ में सीनियर माइक्रोबायलोजिस्ट के पद पर 6 वर्ष तक कार्यरत रहीं। उसके बाद उनके पति का झांसी स्थानांतरण हो जाने के कारण जॉब छोड़कर यहां आ गईं और मेडिकल कालेज में ज्वाइन किया। वह वर्ष 2012 में मिसेज गोरखपुर बनी थीं। वर्ष 2017 में जेसीआई गूंज द्वारा आयोजित मिसेज फेमिना झांसी की विनर बनीं। इसके अलावा समर प्रिंसेज का भी खिताब जीता। उन्होंने बताया कि इसमें उनको परिवार और बच्चों का पूरा सहयोग मिलता है। अपनी प्रेरणा वह अपने माता पिता और पति को देती हैं और सफलता का श्रेय भी देती हैं।

LEAVE A REPLY