घर में ही रहे घर की इज्जत

- मंडलायुक्त ने ढिमरपुरा में किया स्वच्छ भारत अभियान का निरीक्षण, कामिनी का सम्मान

0
85

झाँसी। स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अंतर्गत बनाए गए शौचालय का सभी इस्तेमाल करें। घर की बहू बेटियां घर में ही शौच जाएं ताकि घर की इज्जत घर में ही रहे। बेटियों को शिक्षा दें क्योंकि एक शिक्षित बेटी दो घरों में शिक्षा की ज्योति जलाती है। यह विचार मंडलायुक्त कुमुदलता श्रीवास्तव ने अपने प्रथम भ्रमण पर विकासखंड बड़ागांव के ग्राम ढिमरपुरा में स्वच्छ भारत मिशन अन्तर्गत शौचालय निर्माण व उनकी उपयोगिता का सत्यापन करते हुए चौपाल में व्यक्त किए।
गांव में शौचालय निर्माण की अलख जगाने वाली कामिनी को सम्मानित करते हुए मंडलायुक्त ने कहा कि जल्द ही सभी लाभार्थियों को शौचालय निर्माण की राशि प्राप्त हो जाएगी। उन्होंने दस लाभार्थियों को द्वितीय किस्त के रूप में तीन-तीन हजार रुपए के चेक भी दिए। अपर आयुक्त प्रशासन उर्मिला सोनकर खाबरी ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। बहू-बेटियों के बाहर शौच के लिए जाने पर कानून व्यवस्था की समस्या होती है। डीडी पंचायत आरएस चौधरी ने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन के तहत चयनित एक सौ परिवारों के लिए 117 पूर्ण, 39 निर्माणाधीन तथा शेष शौचालय जल्द प्रारंभ करा दिए जाएंगे। पूर्ण शौचालयों के लाभार्थियों को राशि भी दी जा चुकी है। निर्माणाधीन को प्रथम किस्त छह हजार रुपये तथा द्वितीय किस्त तीन हजार दी गयी। ग्रामीणों ने अनुदान राशि 12 हजार में और रुपया लगाकर आधुनिक ढंग से शौचालय निर्माण किया है। उन्होने बताया कि सभी ग्रामीणों ने गांव को आगामी 15 फरवरी तक ओडीएफ करने का संकल्प लिया है। ट्रिंग रिंग टीम लीडर प्रशांत कुमार पांडेय ने बताया कि गांव में 750 पुरूष व 600 महिलाओं सहित कुल 182 परिवार हैं। इस अवसर पर पुलिस क्षेत्राधिकारी नगर अभिषेक कुमार सिंह, जिला पंचायतराज अधिकारी एपी त्रिपाठी, संजीव बुधौलिया उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY