भक्ति में विश्वास की बड़ी भूमिका – मुरारी बापू

- श्री राम धुन और भजनों पर भाव विभोर हुये भक्त - रविवार को पूर्णाहुति और विशाल भंडारे के साथ विश्राम लेगी राम कथा

0
135

ओरछा। श्री राम कथा मर्मज्ञ संत मुरारी बापू ने कहा कि भक्त बनो तो हनुमान जैसा, जिन्होंने हर दुख-सुख में प्रभु श्रीराम का साथ दिया और अंतिम क्षणों तक प्रभु की सेवा में लगे रहे। श्रीराम कथा के आठवें दिन कथा प्रवचन करते हुए मोरारी बापू ने भक्त और भगवान के सम्बंध का सुन्दर वर्णन किया। उन्होने कहा कि भक्ति में विश्वास की बड़ी भूमिका हैै। धर्म का सार सत्य, करूणा और प्रेम है। रविवार को पूर्णाहुति और विशाल भंडारे के साथ राम कथा विश्राम लेगी।
शनिवार को संत मोरारी बापू ने कहा कि हमें संसार में रहकर प्रभु श्रीराम का नाम जपना है तो राम भक्त हनुमान की तरह जपें। हनुमान जीवन पर्यंत श्रीराम का नाम जपते रहे। चौदह बरस के वनवास के दौरान हनुमान की श्रीराम से भेंट हुई और वे धन्य हो गए फिर हनुमान ने कभी प्रभु श्रीराम का साथ नहीं छोड़ा और उनके दुख-सुख के सारथी बने रहे। बापू ने कहा कि आज ऐसे भक्त की कल्पना करना भी मुश्किल है, जिसने राम को अपने हृदय में बसा लिया। कहा कि कलयुग में यदि भगवान का नाम जपना है तो हनुमान की तरह जपें फिर देखिए प्रभु हनुमान की तरह तुम्हारा भी बेड़ा पार लगा देंगे। कथा के बीच-बीच में भजन मंडली ने भजनों की प्रस्तुतियों से माहौल को राममय बना दिया। श्रीराम धुन, विभिन्न मंगल भजनों पर भक्तों को उन्होने बार – बार भावविभोर किया। जयश्री राम , जय हनुमान की जयकारों से पूरा कथा पण्डाल गुंजायमान रहा। इससे पूर्व ब्राह्मणों ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ गणेश, पंच पूजा, वेदी पूजा एवं व्यास पूजा समेत नित्य पूजाएं संपन्न की। इसके बाद ओरछा की महिमा पुस्तक का विमोचन भी बापू द्वारा किया गया।
इस दौरान श्रीमद् जगदगुरू द्वाराचार्य मलूक पीठाधीश्वर श्रद्धेय श्री राजेन्द्र दास देवाचार्य महाराज , अनुरूद्ध दास महाराज ओरछा, महन्त अनन्तदास महाराज, महामण्डेलश्वर संतोष दास महाराज, विधायक अनिल जैन, सदर विधायक झांसी रवि शर्मा, जिला धर्माचार्य महन्त विष्णु दत्त स्वामी, नगर धर्माचार्य प. हरिओम पाठक, बसन्त गोलवलकर, लल्लन महाराज,, मनोज पाठक, पीयूष रावत, अनिल रावत, आशीष राय, देवेश पाण्डेय, रत्नेश दुबे, पुनीत रावत, रीतेश दुबे, अंचल अड़जारिया, मनीष नीखरा, नीरज राय, भूपेन्द्र रायकवार, शिवशंकर संकल्प, अनिल दीक्षित, घनश्याम चौबे, सोनी कुशवाहा, बन्टू मिश्रा आदि उपस्थित रहे।

भारत का विश्‍वगुुुुरु बनना तय : राजनाथ सिंह

कथा में विशेष रूप से उपस्थित भारत सरकार के ग्रहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि मोरारी बापू देशवासियों का मन बड़ा करने का काम कर रहे है। भारत के ऋषियों ने ही पूरी दुनिया को अपना परिवार माना है। बापू का संकल्प भारत को फिर विश्वगुरू बनाना है। हमारा देश जब हर क्षेत्र में आगे बड़ जायेगा तब विश्वगुरू बनना तय है। उन्होने श्री राम चरित मानस की आरती भी की।

LEAVE A REPLY