सभी टीमें जल्दी से जल्दी पूर्ण करें हाउस टू हाउस मैपिंग : जिलाधिकारी

0
586

झांसी (सूचना विभाग)। जनपद में विभिन्न स्तर से हाउस टू हाउस मैपिंग कार्य लगभग पूर्ण हो गया है। डॉक्यूमेंटेशन चल रहा है परंतु जनपद झांसी में अन्य संस्थाएं, कॉलेज, कृषि विश्वविद्यालय, भेल, एग्रोफोरेस्ट्री है जहां आवासीय कॉलोनी है, परंतु उनका सर्वे नहीं किया गया। संस्थाएं अपने स्तर से सर्वे कार्य पूर्ण करते हुए निश्चित प्रारूप पर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। यह निर्देश जिलाधिकारी आन्द्रा वामसी ने विकास भवन सभागार में बीएचईएल, आईजीएफआरआई, बीआईईटी, पैरामेडिकल, मेडिकल कॉलेज, आयुर्वेदिक कॉलेज, पारीछा थर्मल पावर परियोजना, अधिशाषी अभियंता बेतवा आदि के प्रतिनिधियों को दिए। उन्होंने कहा कि सर्वे सुचिता और समय से पूर्ण किया जाए।
जिलाधिकारी ने कहा कि सारी सूचनाएं निश्चित प्रारूप पर भरकर उपलब्ध कराई जानी है। जिसमें मुख्य रूप से विदेश यात्रा से वापस आने वाले की सूचना या ऐसे व्यक्ति जिनका संपर्क विदेश यात्रा से आने वालों से हो। इसके अतिरिक्त किसी को गंभीर दर्द हो, सूखी खांसी या बुखार हो, उसकी सही- सही सूचनाएं दी जानी है। उन्होंने बताया कि 12 मार्च 2020 के बाद विदेश यात्रा से आने वालों की जानकारी तथा 23 मार्च 2020 के बाद किसी अन्य प्रदेश अथवा जिले से आने वाले व्यक्ति की जानकारी साफ-साफ सुचितापूर्वक दी जानी है। उन्होंने कहा कि कोई भी घर या हॉस्टल छोड़ा जाए। सभी जगह का सर्वे किया जाना है यह कार्य दो दिवस में पूर्ण कर लिया जाए ताकि सही ढंग से डॉक्यूमेंशन किया जा सके। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी निखिल टीकाराम फुंडे, एसडीएम सदर संजीव कुमार मौर्य, पीडी आर के गौतम, अधिशाषी अभियंता विद्युत डी यादवेंद्र, अधिशाषी अभियंता बेतवा उमेश कुमार, रेलवे हॉस्पिटल से डॉक्टर उमेश चंद्रा, आयुर्वेदिक कॉलेज प्रधानाचार्य केदारनाथ यादव सहित अन्य संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

कहीं सर्वे हो ही नहीं रहा, तो कहीं पहुंच रही तीन चार टीमें एक साथ

जिलाधिकारी के निर्देश पर महानगर में हाउस टू हाउस मैपिंग के तहत सर्वे का कार्य किया जा रहा हैैै। इसके तहत कई क्षेत्रों में अभी तक सर्वे नहीं किया गया है, तो महानगर के कई क्षेत्र ऐसे भी हैं, जहां एक के बाद एक कर कई टीमें सर्वे कर रही हैं। ऐसे मेंं सभी की एनर्जी और समय व्‍यर्थ नष्‍ट किया जा रहा है। वर्तमान में नगर में सिविल डिफेंस, नगर निगम, स्‍वास्‍थ्‍य विभाग सहित अन्‍य कई संस्‍थाएं सर्वे कर रही हैं। ऐसे में इनको या तो अलग अलग क्षेत्र देकर जिन क्षेत्रों में सर्वे नहीं हुआ है। वहां का सर्वे कराया जाए। या फिर एक ही स्‍थान का सर्वे करने से कोई आंकड़े अलग अलग थोड़ी ही आएंगे।

LEAVE A REPLY