बांध में डूबे युवक का कई घंटे बाद भी नहीं लगा सुराग

*************बीती शाम पिकनिक मनाने चार दोस्तों के साथ बांध आया था युवक ***********रेस्क्यू जारी, पुलिस ने गोताखोरा की ली मदद, पानी में उतारी नाव

0
91

झाँसी। चिरगांव थाना क्षेत्रान्तर्गत पारीछा बांध में नहाते वक्त डूबे युवक का रविवार को 24 घंटे बाद भी सुराग नहीं लग सका। वह शनिवार को चार दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने आया था। पुलिस का रेस्क्यू जारी है। गोताखोरों की मदद ली जा रही है। वहीं पानी में नाव उतारी गई है। ताकि डूबे युवक का पता चल सके।
चिरगांव के गांव बरल निवासी अभिषेक राजपूत (21) बेटा प्रमोद राजपूत, शनिवार को अपने चार अन्य साथियों के साथ पारीछा बांध पर पिकनिक मनाने आया था। जिसमें चिरगांव थाने का एक सिपाही पवन यादव भी था। इसी बीच वह किनारे खड़ा होकर नहाने लगा। तभी अचानक गहरे पानी में डूबता चला गया। जिससे बाहर खड़े साथी शोर मचाने लगे। शोर सुनकर आसपास हड़कंप मच गया। आनन-फानन में काफी संख्या में लोग एकत्र हो गए। खबर पाकर परिजन भी मौके पर पहुंचे और रोने-बिलखने लगे। घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने उसकी तलाश की। गोताखोरों की मदद ली गई। लेकिन, बांध में पानी अधिक होने से दिक्कतें हो रही हैं। आशंका जताई जा रही है कि वह कहीं पत्थरों के बीच में फंस गया होगा। चिरगांव थाना में तैनात पीपीएस प्रज्ञा पाठक ने बताया कि लगातार सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। युवक की तलाश के लिए नाव भी पानी उतारी गई है। गोताखोर लगातार कोशिश कर रहे हैं।

ट्रक और कार की टक्कर, एक की मौत

ग्वालियर जिले के अपोलो अस्पताल के पीछे रहने वाली नीता वैश्य अपनी 22 वर्षीय बेटी सोनल, 20 वर्षीय बेटा जयदीप और एक व्यक्ति कार लेकर ग्वालियर की ओर जा रहे थे। कार जयदीप चला रहा था। कार जब झांसी-कानपुर हाईवे पर ओरछा थानान्तर्गत तिगैला के पास चल रही थी तभी उनकी ट्रक से टक्कर हो गई। जिसमें सभी लोग घायल हो गए। इसकी जानकारी होते ही पुलिस मौके पर पहुंची। घायलों को उपचार के लिए मेडिकल कालेज भिजवाया गया। जहां डॉक्टरों ने एक को मृत घोषित कर दिया। जबकि अन्य घायल हैं। घायलों में नीता, सोनल और जयदीप शामिल हैं।

युवती की मौत, कुछ दिन पहले लगाई थी फांसी

जालौन जिले के एट थानान्तर्गत ग्राम पिरौना में रहने वाली लगभग 18 वर्षीय रजनी ने 20 जुलाई को घर में फांसी लगा ली थी। समय रहते उसकी मां ने उसे फांसी पर लटकते देख लिया था और शोर मचा दिया। समय रहते उसे फांसी से उतार लिया गया और उपचार के लिए मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया था। जहां उसकी मौत हो गई। सूचना पर गई पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया।

LEAVE A REPLY