उन्‍होंने ठाना है, महिलाओं को वित्‍तीय साक्षर बनाना है

0
820

झांसी। आज के दौर में महिलाओं को पुरुषों के कंधे से कंधा मिलाकर चलना है, तो उनको भी वित्‍तीय समझ होना आवश्‍यक है। इसके आधार पर ही वह आगे बढ़ पाएंगी। नोटबंदी के बाद सबसे अधिक नुकसान महिलाओं को हुआ, जिससे उनकी जमापूंजी के सारे राज खुल गए। ऐसे में यदि वह वित्‍तीय साक्षर होतीं और प्रत्‍येक इंवेस्‍टमैण्‍ट सही तरीके से करतीं, तो उनकी स्‍थिति कुछ अाैर ही होती। ऐसे में महिलाओं को वित्‍तीय साक्षर बनाने की मन में ठान कर विक्रमजीत कौर मैदान में आ गई हैा और यह प्रत्‍येक रविवार को क्‍लास लेकर महिलाओं को वित्‍तीय साक्षर बनाने में जुटी हुई हैं।
इस सम्‍बंध में विक्रमजीत कौर बताती है कि हमेशा की तरह रविवार को इन्वेस्टर एजुकेशन प्रोग्राम का आयोजन किया गया जिसमें सिर्फ महिलाओं के लिए इन्वेस्टमेंट संबंधी जानकारी दी गई, की किस प्रकार से इन्वेस्टमेंट हमारी जिंदगी में जरूरी है और हमें इनकम टैक्स रिटर्न क्यों फाइल करना चाहिए। पैन कार्ड बनाने से कोई नुकसान नहीं होता है। यह हमारे फायदे के लिए है, जिससे कि हम आयकर रिटर्न फाइल करते हैं और अपनी इनकम को डिपार्टमेंट में शो करते हैं। धारणा यह रहती है कि अगर हम इनकम टैक्स फाइल करेंगे, तो हम पर टैक्स लग जाएगा पर ऐसा नहीं है। इनकम टैक्स फाइल करने पर जो हमारी इनकम शो हो जाएगी, वह वाइट हो जाएगी नहीं तो वह आय हमारी ब्लैक मनी मानी जाएगी। खास तौर पर महिलाओं में जानकारी का अभाव रहता है, जिस कारण से वह पैसा घर पर ही जोड़ती रहती है जैसे कि नोटबंदी के दौरान महिलाओं के पास ही सबसे ज्यादा धन नगदी के रूप में पाया गया था, एक तो घर में पैसा रखने से सुरक्षा नहीं होता है, दूसरा उस पर ब्याज भी नहीं आता है और भी कई चीजें जैसे कि म्यूचल फंड क्यों जरूरी होता है। हमारे लिए फाइनेंसियल प्लानिंग क्यों करनी चाहिए और कैसे करनी चाहिए और एसआईपी क्या होती है। यह कैसे काम करती है एसआईपी में जमा करके कैसे लाभ अर्जित कर सकते हैं। डेट फंड क्या होते हैं। इक्विटी क्या होती है। बैलेंस फंड क्या होते हैं। एम आई पी प्लान क्या होता है अपना रिटायरमेंट सुरक्षित करने के लिए हमें किन किन नियमों का पालन करना चाहिए इत्यादि की जानकारी दी गई। उन्‍होंने बताया कि झांसी की महिलाओं को वित्तीय साक्षर बनाने के लिए वह पूरी तरह कमर कस चुकी है और अभी तो मैं अपने ऑफिस में ही महिलाओं को बुलाकर शिक्षित करती हूं और अब मैंने यह सोचा है ग्रामीण इलाकों में और गरीबों की बस्ती में जगह जगह जाकर भी मैं वित्तीय साक्षरता मिशन चलाऊंगी।

LEAVE A REPLY