स्टेडियम में दद्दा ध्यानचंद का सम्मान न करने बोले जीएम रेलवे

हॉकी जादूगर को माला न पहनाना मुद्दा नहीं

0
117

झाँसी। उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक एमसी चौहान का ध्यानचंद स्टेडियम में स्थापित हॉकी जादूगर दद्दा ध्यानचंद की अनदेखी करना विवाद का विषय बन गया है। अपनी भूल सुधारने के बजाय उन्होंने यह कहकर हलके से टाल दिया कि यह कोई मुद्दा नहीं है।
उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक एमसी चौहान आज झाँसी आए। उन्होंने बतौर मुख्य अतिथि ध्यानचंद स्टेडियम में आयोजित रेलवे की अखिल भारतीय सीनियर हॉकी चैंपियनशिप का उद्घाटन किया। स्टेडियम परिसर में ही दद्दा ध्यानचंद की प्रतिमा है। वहीं उनके प्रिय खेल हॉकी का आयोजन किया गया, लेकिन महाप्रबंधक ने उनकी प्रतिमा पर एक फूल चढ़ाना भी मुनासिब नहीं समझा। इस बारे में जब पत्रकारों ने उनसे पूछा तो पहले वह बोले कि ध्यानचंद के लिए विशेष सम्मान का कार्यक्रम नहीं है जो उन्हें माला पहनाई जाए। यह इतना बड़ा मुद्दा भी नहीं है। फिर भूल सुधारते हुए बोले उनके कार्यक्रम में यह शामिल नहीं था, फिर भी उन्होंने अपने भाषण में दद्दा ध्यानचंद का जिक्र किया। एक सवाल के जवाब में महाप्रबंधक ने कहा कि ग्वालियर में रेलवे का एस्ट्रोटर्फ स्टेडियम ठीक नहीं है। झाँसी में उससे अच्छी सुविधाएं हैं, लिहाजा यहीं टूर्नामेंट कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 72 सीटों वाले कोच में 125-175 लोग बैठते हैं क्योंकि अधिकतर रेलमार्ग डबल ट्रेक हैं। वहां ज़्यादा ट्रेन नहीं चलाई जा सकतीं। तीसरी और चौथी लाइनों का अपग्रेडेशन चल रहा है। जल्द ही वहां सवारियां गाड़ियों की संख्या बढ़ाई जाएगी। झाँसी कानपुर रेल लाइन का दोहरीकरण प्रगति पर है और झाँसी से पारीछा तक का काम मार्च तक शुरू हो जाएगा। झाँसी-हरपालपुर रेलमार्ग पर विद्युतीकरण भी मार्च तक पूर्ण हो जाएगा। झाँसी-मानिकपुर डबल ट्रैक की डीपीआर शासन को भेज दी गई है। उन्होंने कहा कि सीपरी ओवरब्रिज निर्माण में फंसा पेंच सुलझा लिया गया है। जल्द ही काम आगे बढ़ाया जाएगा। 4200 रुपये की बिजली सामग्री 42000 रुपये में खरीदने के सवाल पर उन्होंने कहा कि बिजली उपकरणों की आपूर्ति में गंभीर अनियमितताओं की शिकायतें मिलीं तो जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY