झाँसी रेल मंडल ने लदान में स्थापित किए नए मानक

नौ माह में 913.42 करोड़ का राजस्व अर्जित किया

0
103

झाँसी। वित्तीय वर्ष 2017-18 के दौरान उत्तर मध्य रेलवे के झाँसी मंडल ने लदान में नए मानक स्थापित किए हैं और प्रभावशाली आय प्राप्त किया है। झाँसी रेल मंडल ने यात्री परिवहन, माल-लदान एवं अन्य श्रोतों से मंडल ने निर्धारित लक्ष्य 773-83 करोड़ के सापेक्ष 913.42 करोड़ का राजस्व अर्जित किया जो कि निर्धारित लक्ष्य से 18 प्रतिशत तथा पिछले वर्ष की तुलना में 24 प्रतिशत अधिक है। इसी अवधि में 3.94 करोड़ यात्रियों से टिकट बिक्री के माध्यम से 5.0 करोड़ की आय प्राप्त हुई।
मंडल रेल प्रबंधक ए के मिश्रा ने बताया कि वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक विपिन कुमार सिंह के निर्देशन में झाँसी रेल मंडल में टिकट चेकिंग स्टफ की कमी के बावजूद निरंतर रुप से टिकट जांच अभियान चलाकर मंडल ने 3.16 हजार मामलों में 14.74 करोड़ रुपए की वसूली की, जो की पिछले साल की तुलना में केसिस में 12 प्रतिशत तथा आय में 14.30 प्रतिशत अधिक है। माल लदान में विशेष वृद्धि दर्ज करते हुए वित्त वर्ष के प्रथम नौ माह में 68 प्रतिशत तथा लक्ष्य से 64.45 प्रतिशत अधिक है। झाँसी मंडल की समस्त श्रोतों में आय 913.14 करोड़ है जो कि गत वर्ष की प्राप्त आय 737.29 से 23.89 प्रतिशत अधिक है।

कुछ महत्वपूर्ण कार्य

झाँसी मंडल के स्टेशनों पर लगाए गए एटीवीएम मशीनों पर फेसिलिटएटरर्स की नियुक्ति की गई जिसमें झाँसी स्टेशन पर छह, ग्वालियर स्टेशन पर तीन तथा ललितपुर स्टेशन पर दो नियुक्त किए गए हैं। इसी तरह महोबा स्टेशन पर उत्तर मध्य रेलवे जोन के प्रथम यात्री टिकट सुविधा केन्द्र का शुभारंभ किया गया। इस सुविधा से यात्री अपनी यात्रा का आरक्षण टिकट इस केन्द्र से प्राप्त कर सकते हैं। झाँसी मंडल में यूपीआई एप के माध्यम से आरक्षित एवं अनारक्षित टिकट खरीदने की प्रणाली प्रारंभ की गई। इस सुविधा से यात्री टिकट खिड़की पर अपना टिकट कैश रहित लेन देन से प्राप्त कर सकता है।

कर्मचारी हित में किए गए कार्य

झाँसी मंडल में कर्मचारी कल्याण के लिए विभिन्न कार्य किए जा रहे हैं। इसके अंतर्गत शिकायत निवारण शिविर, जागरुकता शिविर आयोजित किए गए। मंडल के 1500 से अधिक कर्मचारियों ने सेवा पुस्तिका एवं स्वय के अवकाश खातों का अवलोकन किया। एक हजार से अधिक कर्मचारियों ने चिकित्सा जांच करवाई। इसके अलावा सेवानिवृत्त रेल कर्मियों को कार्मिक विभाग द्वारा 90 से अधिक संशोधित पीपीओ जारी किए जा चुके हैं।

मानसिक रुप से कमजोर बच्चों के लिए सराहनीय कार्य

झाँसी मंडल में 94 एक्ट अप्रेन्टिस के तहत अभ्यार्थियों को प्रशिक्षित किया गया। स्टेशनों पर ट्राइबल आर्ट के माध्यम से क्षेत्रीय लोक कलाओं को प्रसारित किया जा रहा है। रेल के महिला कल्याण संगठन द्वारा संचालित स्वावलम्वन केन्द्र में मानसिक रुप से कमजोर बच्चों के कौशल का विकास कार्य किया जा रहा है। बच्चों कंप्यूटर प्रशिक्षण के साथ अन्य उपयोगी प्रशिक्षण प्रदान किए जा रहे हैं। स्वच्छता के प्रति लोगों में जागरुकता लाई गई।

रेल के प्रति लोगों को जागरुक किया

रेल के सुरक्षित संचालन हेतु संरक्षा का महत्वपूर्ण भूमिका है। इसके लिए समय-समय पर अलग-अलग स्टेशनों, डिपो, प्रशिक्षण केन्द्रों, स्थानों पर नुक्कड़ नाटक एवं मोबाइल वैन के माध्यम से लोगो रेल के प्रति जागरुक किया जा रहा है। इसके अलावा सेफ्टी निरीक्षण, सेफ्टी हेतु रात्रि निरीक्षण, इंजनों की फुट प्लेटिंग मंडल के अधिकारियों द्वारा नियमित रुप से प्रतिदिन की जा रही है। इसके साथ मंडल के दस मानव रहित तथा 11 मानव सहित समपार फाटकों को बंदकर दिया गया।

टीटीई लॉबी को कम्प्यूटराइज्ड

झाँसी, ग्वालियर एवं बांदा टीटीई लॉबी को कम्प्यूटराइज्ड किया जा रहा है। इसमें झाँसी लॉबी का कार्य पूर्ण हो चुका है। इस सुविधा से पेपरलेस वोकिंग को बढ़ावा मिलेगा, तथा रनिंग स्टॉफ की नाईट ड्यूटी, टीए रिटर्न्स आदि प्रेषित करने में सुविधा प्राप्त होगी।

LEAVE A REPLY