सजगता से टाले डेंगू मलेरिया का खतरा

0
97

झाँसी। घरों और आसपास खाली बर्तनों, टूटे मटकों, खराब पड़े टायर आदि सहित तमाम चीजों में पानी एकत्र न होने दें। इससे डेंगू और मलेरिया के पनपने की अधिक सम्भावना रहती है।
इस सम्बंध में नगर स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. राकेश बाबू गौतम ने बताया कि सफाई व्यवस्था करने और जलभराव न होने देने के लिए नगर निगम अपना प्रयास कर रहा है, जिसको लेकर स्थानीय लोगों में जागरुकता होना काफी आवश्यक है। वहीं बारिश के मौसम में डेंगू और मलेरिया जैसे रोगों के फैलने की पूरी सम्भावनाएं बनी रहती है। लोग घर व आसपास जलभराव न होने दें। इसमें मच्छर पनपने का खतरा रहता है। ऐसे में व्यक्ति मलेरिया व डेंगू की चपेट में आ सकता है। वहीं साफ-सफाई की सजगता बरत कर बीमारी से बचाव किया जा सकता है।

डेंगू के लक्षण

0 डेंगू एडीज़ एजिप्टाई मच्छर काटने से होता है।
0 इसमें तेज बुखार, बदन दर्द, जोड़ों में दर्द व शरीर पर चकत्ते पड़ जाते हैं।
0 दांत, मुंह, नाक से खून भी आने लगता है।
0 रक्त की जांच में प्लेटलेट्स एक लाख से कम होने लगती हैं
0 डेंगू डायबटीज़, श्वसन रोग से पीड़ित व कमजोर प्रतिरोधक क्षमता वाले व्यक्तियों के लिए अधिक खतरनाक हो जाता है।

LEAVE A REPLY