घर में सो रहे युवक की गोली मारकर हत्या

दो सगे भाइयों पर हत्या का मुकदमा दर्ज, तलाश जारी

0
64

झाँसी। घर में सो रहे एक युवककी गोली मारकर हत्या कर दी। इस मामले में पुलिस ने दो भाइयों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस ने कई स्थानों पर दबिश दी। इस दौरान एक आरोपी को पूछताछ के लिए पकड़ लिया है.
गरौठा थाना क्षेत्र के मोती कटरा मोहल्ले में रहने वाला सुरेन्द्र यादव अपने कमरे में सो रहा था, तभी दो युवकउसके घर में घुस आए और उसे पैर में गोली मार दी। गोली लगते ही सुरेन्द्र ने शोर मचाया तो आरोपी वहां से भाग गए। शोर मचने की आवाज सुनते ही घर के लोग इकट्ठा हो गए। घर के सदस्य कमरे में गए तो सुरेन्द्र घायल अवस्था में पड़ा था। पैर से खून निकल रहा था। तत्काल पास की सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाया गया। यहां चिकित्सक ने सुरेन्द्र को मृत घोषित कर दिया।
इसकी सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक देहात कुलदीप नारायण, सीओ गरौठा और गरौठा प्रभारी निरीक्षक एस एन शुक्ला मय फोर्स के मौके पर पहुंचे। पुलिस टीम ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। इसके बाद मृतक के भाई राम किशन उर्फ भज्जू से घटना के बारे में जानकारी ली। मृतक के भाई रामकिशन का कहना है कि उनके भाई की किसी से रंजिश नहीं है। भाई ने पड़ोस में रहने वाले दो लोगों के नाम बताए हैं। दोनों सगे भाइयों ने मिलकर उसके भाई की गोली मारकर हत्या की है। इसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया। उधर, मृतक के भाई राम किशन की तहरीर पर पुलिस ने प्रमोद और बच्चू के खिलाफ दफा 302,452 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया। इस संबंध में पुलिस का कहना है कि आरोपियों की तलाश में कई स्थानों पर दबिश दी। एक आरोपी प्रमोद कुमार को पकड़ लियै है।
—————

नौकरी दिलाने के बहाने छात्राओं का पैसा हड़पा

झाँसी। कम्प्यूटर सेंटर के नाम से नौकरी दिलाने के बहाने छात्राओ से धन हड़पने एवं धोखाधड़ी करने की शिकायत थाने में की गई है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरसरांय स्थित खेर इण्टर कॉलेज बालिका विभाग के सामने वाली गली में कुछ लोग कम्प्यूटर सेंटर चला रहे है और नौकरी दिलाने के बहाने पैसा बसूल कर लेते है। फिर अपने वादे से मुकर जाते है। नई बस्ती निवासी दीक्षा रायकवार पुत्री ज्ञान सिंह रायकवार ने थाने में प्रार्थना पत्र देकर बताया कि कम्प्यूटर शिक्षिका नीलम परिहार पूजा एवं अखिलेशी दस हजार रुपये नौकरी दिलाने के नाम पर हड़प लिए। अब रुपये देने से मना कर रही है। वही दूसरी छात्रा प्राची भदौरिया पुत्री हरी सिंह ने बताया कि उनकी छोटी बहिन एवं उनसे नीलम परिहार ने बीस हजार रुपये एवं एक अंगूठी नौकरी दिलाने के नाम पर ली थी। बाद में नौकरी मांगने के नाम पर मुकर गए।
उन्होंने थाने में दिए प्रार्थना पत्र में लिखा कि कम्प्यूटर सेंटर पर कुछ लड़के एवं लड़कियां धोखाधड़ी कर छात्र छात्राओं को गुमराह कर भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे है। जिसके कई लोग शिकार हो गए है। उन्होंने कम्प्यूटर संचालको के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही कर अपने रुपये वापिस दिलाये जाने की मांग की है।

LEAVE A REPLY