विवि: नकलचियों की कापी जांचने को शिक्षकों पर बनाया जा रहा दबाव

0
164

झांंसी। बुन्‍देलखण्‍ड विश्‍वविद्यालय में कुछ शिक्षकों पर नकल के खिलाफ की गई शिकायत के बाद भी कापियां जांचनेे का दबाव बनाया जा रहा है। हालांकि शिक्षकों ने फिलहाल इस मामले में लिखित कार्रवाई करने की मांग की है।
उल्‍लेखनीय है कि पिछलेे दिनों हुई एमएससी की सेेमेस्‍टर परीक्षा में विवि के कुछ शिक्षकों ने कम्‍प्‍यूटर से कॉपी करने की कुलपति और विश्‍वविद्यालय प्रशासन से लिखित शिकायत की थी। इसमें पूरी कक्षा की कापियों में एक सा लिखा पाया गया है। ऐसे में शिक्षकों ने उन कापियों को जांचने से मना करते हुए विवि प्रशासन से कार्यवाही करने की मांग की थी, लेकिन अब विवि प्रशासन खुद उक्‍त महाविद्यालय प्रबंधक के दबाव में आकर शिक्षकों से कापियां जांचने के निर्देश दे रहा है। मामले को लेकर शिक्षकों का कहना है कि यह मामला परीक्षा समिति के पास है और अभी इस पर कोई फैसला नहीं हुआ है। ऐसे में उन कापियों को जांच कर रिजल्‍ट घोषित करने से विवि की साख पर ही बट्टा लगेगा। इसके बाद भी हम पर दबाव बनाया जा रहा है। इसको लेकर विवि प्रशासन उक्‍त कापियों को जांचने के बार बार निर्देश दे रहा है। इसका कारण उक्‍त महाविद्यालय प्रबंधक केे विवि प्रशासन के एक अधिकारी के साथ घनिष्‍ठ सम्‍बंध भी हैं। उनका कहना है कि इस मामलेे में मौखिक निर्देशों को शिक्षक नहीं मानेंगे, विवि प्रशासन लिखित में दे कि कापियां जांचने के बाद मामले में क्या कार्रवाई की जाएगी। यदि कार्रवाई करनी ही है, तो फिर कापियों की जांच करने से क्‍या होगा। फिलहाल मामलेे में विवि प्रशासन पूरी तरह हावी है और वह इसकाेे लेकर उक्‍त शिक्षकों पर कार्रवाई करने से नहीं चूकेगा। ऐसे में नकलविहीन परीक्षाओं का ढिंढोरा पीटना विवि के किसी काम नहीं आएगा।

LEAVE A REPLY