वेलेण्‍टाइन डे से दो दिन पहले क्‍यों छोड़़ा उसने अपना प्‍यार

-----------------पांच माह पहले हुई थी शादी-------- --- आरपीएफ और महिला हेल्प लाइन ने बचाई युवती की जान---

0
82

झाँसी। सास से लड़ाई एक महिला को इतना भारी पड़ गया कि वेलेन्टाइन डे से दो दिन पूर्व सात फेरे लेकर साथ जीने मरने की कसमें खाने वाला उसका पति उसको रेलवे स्टेषन पर छोड़कर चला गया। इस दौरान वह अकेली प्लेटफाॅर्म पर बैठी थी। आरपीएफ टीम और महिला हेल्प लाइन द्वारा युवती को आरपीएफ थाना लाया गया। यहां उससे पूछताछ की। पूछताछ के बाद आरपीएफ ने उक्त युवती को आशा ज्योति केन्द्र के हवाले कर दिया। यहां से युवती को मायके या ससुराल भेजा जाएगा।
स्थानीय रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 1/7 पर एक युवती अकेली बैठी हुई थी। वहां पर आरपीएफ उपनिरीक्षक राजकुमारी गुर्जर और उपनिरीक्षक रविन्द्र राजावत टीम समेत गस्त पर थे। यहां उससे पूछताछ की और उसको थाने लाया गया। युवती ने बताया है कि वह दुर्गापुर पश्चिम बंगाल की रहने वाली है। तकरीबन 3 महीने पहले उसकी शादी मध्य प्रदेश के पृथ्वीपुर क्षेत्र में रहने वाले हरभजन पाल नामक व्यक्ति से हुई थी। सोमवार की देरशाम उसका पति, सास व ससुर से खाना बनाने को लेकर झगड़ा हो गया। झगड़ा इतना बढ़ गया कि तीनों ने मिलकर उसकी बेरहमी से पिटाई की। इसके बाद पति उसे बस में सवार होकर झाँसी स्टेशन लाया। यहां पति उसे छोड़कर भाग गया। आरपीएफ के मुताबिक वह हिंदी अच्छी तरह से नहीं बोल सकती है। इसको समझा-बुझाकर रेलवे सुरक्षा बल थाना लाया गया। पूछने पर उसने अपना नाम रिंकी पाल पत्नी हरभजन पाल उम्र 28 वर्ष निवासी पृथ्वीपुर थाना पृथ्वीपुर जिला टीकमगढ़ मप्र बताया। घर वालों का मोबाइल नम्बर पूछने पर उसने नम्बर याद नहीं होना बताया एवं अपने मायके दुर्गापुर पं. बंगाल भिजवाने की इच्छा जाहिर की। बाद में प्रभारी निरीक्षक एके यादव के आदेश पर महिला हेल्प लाईन नं0 181 पर कॉल किया गया। तत्पश्चात आशा ज्योति केन्द्र झांसी से सुगमकर्ता महिला प्रियंका तिवारी व सुरक्षाकर्मी महिला आरक्षक 1385 विनती शर्मा उपस्थित हुई। बाद में आरपीएफ ने उक्त युवकी को आशा ज्योति केन्द्र के हवाले कर दिया।

प्लेटफार्म पर घूमते मिला किशोर

रेल सुरक्षा बल के उपनिरीक्षक राजकुमारी गुर्जर मय स्टॉफ के साथ प्लेटफार्म पर गश्त कर रही थी, तभी उनकी नजर प्लेटफार्म नं 02/03 पर भोपाल एण्ड पर एक लड़के पर गई।
वहां जाकर लड़के से पूछताछ की। लड़के ने अपना नाम सुमित पुत्र रमेष कुमार निवासी बहादुर मैरिज हाल के पास थाना प्रेमनगर जिला झांसी उ0प्र0 बताया। किशोर ने बताया कि वह अपने घर से माता की डाटने से नाराज होकर भागकर स्टेशन पर आ गया था। यहां से वह मुम्बई जाने वाली गाड़ी में सवार होकर भागने का प्लान था। कुछ देर बाद रेलवे चाईल्ड लाईन की टीम को बुलाया गया। बाद में चाइल्ड लाइन से सदस्य राखी यादव व रेखा आर्या थाने पहुंची। पूछताछ के बाद उक्त किशोर को रेलवे चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया।

LEAVE A REPLY