दहेज की बेदी पर चढ़ रही बेटियां – रिपोर्ट गौरव कुशवाहा

0
116

झाँसी। बुंदेलखंड की बेटियों पर दहेज का दंश कहर ढा रहा है। बेटियां दहेज की बेदी पर चढ़ रही हैं। जंजीर-नकदी के साथ मनपसंद बाइक नहीं मिलने पर उन्हें पीटकर घर से निकाल दिया जाता है या फिर जलाकर जिंदा मार दिया जाता है। रोजाना थाने और चौकियों के साथ पुलिस अफसरों के पास दहेज उत्पीड़न के मामले आ रहे हैं। समाज में दहेज अभिशाप बनता जा रहा है। आखिर कब तक बेटियां ससुराल वालों का जुल्म सहेंगी। अग्नि को साक्षी मानकर सात जन्म तक एक दूसरे का साथ निभाने का वचन मंडप तक ही सिमट रहा है। युवाओं का शौक और परिजनों की लालच बेटियों पर जुल्म की मिशाल बनती जा रही है। जिसकी बानगी हर दिन किसी न किसी थाने या फिर अफसर के जनता दरबार में देखने को मिल रही है।

केस नं0-1

नवाबाद थाना क्षेत्र के तालपुरा मोहल्ले में ब्याही युवती को ससुराल वालों ने सोने की जंजीर नहीं लाने पर पीटकर घर से निकाल दिया। नगरा की रहने वाली गुड़िया की शादी तीन माह पहले तालपुरा मोहल्ले में राहुल से हुई थी। अभी उसके हाथ की मेंहदी का रंग छूटा भी नहीं था कि ससुराल वाले मायके से एक लाख रुपया और सोने की जंजीर लाने की जिद करने लगे। पखवारे भर पहले जब मांग पूरी नहीं हुई तो युवती को बेरहमी से पीटते हुए घर से निकाल दिया। मायके पहुंची युवती ने घर वालों को आपबीती बताई। पिता के साथ थाने पहुंची पीड़िता ने दगाबाज पति के साथ चार अन्य लोगों के खिलाफ तहरीर पुलिस को दी। पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने पति समेत चार लोगों के खिलाफ दहेज उत्पीड़न की एफआईआर दर्ज कर घटना की छानबीन शुरू कर दी है।

केस नं0- 2

एक लाख रुपया मायके से लाओगी तभी दुल्हन बनाकर रखूंगा। रेलवे कालोनी में ब्याही युवती को कुछ इसी अंदाज में ससुराल वालों ने धमकी देते हुए घर से भगा दिया। नवाबाद थाना क्षेत्र के हैवट मार्केट की रहने वाली इमराना का निकाह एक साल पहले रेलवे कालोनी में मोहम्मद अकिल से हुआ था। युवती ने बताया कि ससुराल जाने के पखवारे भर बाद ही ससुराल के लोग मायके से एक लाख रुपया लाने के लिए यातनाएं देने लगे। दहेज नहीं मिलने पर सप्ताह भर पहले दगाबाज शौहर के साथ ससुराल के अन्य लोग उसे पीटकर घर से निकाल दिया। कहा जब दहेज लेकर आओगी तभी घर में पनाह मिलेगी।

केस नं0- 3

चिरगांव थाना क्षेत्र के ग्राम पहाड़ी गांव में ब्याही पूनम देवी को ससुराल वालों ने जलाकर मार डाला। मृतका के पिता की तहरीर पर पुलिस ने पति समेत पांच लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का केस दर्ज कर लिया है। साल भर पहले युवती की शादी बब्लू के साथ हुई थी। शादी के बाद से की ससुराल के लोग बाइक और एक लाख रुपये मांग कर रहे थे। 18 नवंबर को मांग नहीं पूरी होने पर युवती को जलाकर मारने का प्रयास किया गया था। आग से झुलसी विवाहिता की मौत हो गई थी।

इनका कहना है

परिवार में एकाकी पन की भावना बढ़ती जा रही है। आपसी सामंजस्य का अभाव व मुखिया को दर किनार करना बिखराव का सबसे बड़ा कारण है। परिवार में हो रहे इस विघटन को रोकने के लिए मुखिया वाद को बढ़ावा देना चाहिए।
विनीता सिंह, योग विशेषज्ञ

इनका कहना है

घर परिवार में इस तरह की समस्या आने पर परिवार के सारे सदस्य एक साथ बैठ कर समस्या को सुने। सही-गलत का फैसला कर समझौतावादी तरीका अपनाएं। ज्यादातर मामलों में देखा गया है कि सास-बहु या पति-पत्नी के बीच झगड़े का कारण कुछ और होता है लेकिन शिकायत दहेज को बुनियाद बनाकर दर्ज कराई जाती है। इस तरह की समस्याओं को पारिवारिक काउंसलिंग के जरिए निपटाया जा सकता है।
अर्चना सिंह, प्रभारी महिला थाना

LEAVE A REPLY