समयपालन में 14.3 प्रतिशत का सुधार दर्ज किया: महाप्रबंधक

गतिमान एक्सप्रेस को झाँसी तक बढ़ाने के लिए रेलवे बोर्ड को लिखा पत्र, कार्य निष्पादन में संरक्षा पालन से कोई समझौता नही

0
122

झाँसी। उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक एम सी चौहान ने कहा कि पिछले वर्ष की तुलना में समय के पालन में 14.3 प्रतिशत का सुधार दर्ज किया है। यह उत्तर मध्य रेलवे के लिए एक रिकॉर्ड है और समस्त क्षेत्रीय रेलों में समयपालन के संबंध में यह सर्वोत्तम सुधार है। यह बात उन्होंने उत्तर मध्य रेलवे के झाँसी मंडल परिक्षेत्र के सांसदों के साथ आयोजित की गई बैठक में कही है।
उन्होंने कहा है कि अप्रैल से दिसंबर 2017 के दौरान उत्तर मध्य रेलवे ने पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में लोडिंग में 18.44 प्रतिशत, सकल प्रारम्भिक आय में 9.7 प्रतिशत, एपोरशन्ड आय में 11.20 प्रतिशत एवं टिकट चेकिंग आय में 15.1 वृद्धि दर्ज की गई है। इसी क्रम में भूमि के प्रयोग से होने वाली आय में वित्तीय वर्ष 2017-18 की पहली तिमाही में रेलवे बोर्ड द्वारा निर्धारित लक्ष्य से 38 प्रतिशत अधिक धनराशि अर्जित की है। उन्होंने बताया कि उत्तर मध्य रेलवे द्वारा गतिमान एक्सप्रेस को झाँसी तक बढ़ाने का अनुरोध रेलवे बोर्ड से किया गया, इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। उन्होंने यात्री सुविधा के क्षेत्र में किए जा रहे विभिन्न कार्यों जैसे दृष्टि बाधित लोगों के लिए डिब्बों ब्रेल साइनेज, स्टेशनों पर ऑटोमैटिक टिकट वेडिंग मशीनों एवं वाटर वेंडिंग मशीनों की उपलब्धता स्केलेटरों, लिफ्टों, एलईडी लाइटों एवं वाई-वाई की उपलब्धता तथा पैदर ऊपरी पुलों, स्काई वॉर्को एवं यात्री आश्रय आदि के विभिन्न स्टेशनों पर निर्माण आदि की जानकारी भी दी है।
वहीं, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक विपिन कुमार सिंह ने झाँसी मंडल की उपलब्धियों के बारे में सांसदों को जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2017-18 में अप्रैल से दिसंबर तक की अवधि में यात्री परिवहन से मंडल ने 482.47 करोड़ का राजस्व प्राप्त किया जो गत वर्ष इस अवधि से प्राप्त राजस्व 455.81 करोड़ से 5.85 प्रतिशत अधिक है। माल यातायात में 367.94 करोड़, कोचिंग आय में 50.63 करोड़, टिकिट चैकिंग के पेनाल्टी केसों में 14.74 करोड़, का राजस्व अर्जित किया है। गतवर्ष की प्राप्त आय 737.29 से 23.89 प्रतिशत अधिक है। बैठक में सांसद विशम्भर प्रसाद, प्रतिनिधि सुशील त्रिवेदी,डी के सिंह, मंडल रेल प्रबंधक ए के मिश्र, एडीआरएम विनीत कुमार सिंह,आईजी आरपीएफ सुनील कुमार सिंह, आरपीएफ कमांडेंट आशीष मिश्रा आदि लोग उपस्थित रहे हैं।

सांसद व उनके प्रतिनिधि ने की है मांग

सांसद भैरों प्रसाद मिश्र ने उदयपुर- खजुराहो ट्रेन को मानिकपुर/ चित्रकूट तक विस्तारित करने, खोह में वांशिग लाइन बनाने, बांदा व चित्रकूट में अतिरिक्त वाटर वेडिंग मशीन, तुलसी एक्सप्रेस के फेरे बढ़ाने की मांग की। इसकी तरह भिंड लोकसभा सांसद डॉ भागीरथ प्रसाद ने भिंड से इटावा एवं फरुखाबाद तक विद्युतीकरण कार्य करने, 200 एकड़ खाली पड़ी भूमि को विकसित करने, भिंड से भोपाल नई ट्रेन की मांग की। सांसद चंद्रपाल सिंह यादव ने सीपरी फ्लाई ओवर के काम को जल्द पूरा करने, चिरगांव में रोड ओवर ब्रिज, झाँसी स्टेशन पर मेडिकल स्टाल आदि की मांग की। सांसद पुष्पेन्द्र सिंह चंदेल ने टिकट पर महोबा जंक्शन लिखवाने, वाटर वेडिंग मशीन लगाने, भोपाल से लखनऊ वाया बांदा नई ट्रेन की मांग, सांसद झाँसी के प्रतिनिधि डॉ. जगदीश सिंह चौहान ने ओरछा स्टेशन को बी श्रेणी दर्जा देने, धौर्रा स्टेशन पर अंडर ब्रिज बनाने, ललितपुर स्टेशन पर बुकिंग काउंटर को शेड से जोड़ने की मांग की। सांसद भानु प्रताप सिंह वर्मा ने रिनिया फाटक पर रोड ओवर ब्रिज बनाने, लखनऊ-झाँसी इंटरसिटी की समयपालनता बनाए रखने की मांग की।

नौकरी पेशा कर्मचारियों के लिए नई ट्रेन चलाने की मांग

ग्वालियर सांसद प्रतिनिधि राजकुमार नारंग ने भिंड-भोपाल एक्सप्रेस को बाया झाँसी चलाने, ग्वालियर से डबरा, दतिया, झाँसी के नौकरी पेशा कर्मचारियों के लिए साढ़े दस बजे पहली ट्रेन चलाने, झाँसी से पटना साहिब के लिए नई ट्रेन चलाने, झाँसी-टीकमगढ़ पैसेंजर को ग्वालियर तक चलाने की मांग की।

सितंबर में बनकर तैयार हो जाएगा ओवर ब्रिज: जीएम

महाप्रबंधक उत्तर मध्य रेलवे एमसी चौहान ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए बताया कि चित्रा चौराहा से बनाए जा रहे ओवर ब्रिज का कार्य सितंबर में पूरा कर लिया जाएगा। इसी तरह 2020 तक झाँसी से कानपुर रेलवे मार्ग का दोहरीकरण भी पूरा किया जाएगा। उन्होंने मालगाड़ियों के खुले गेटों के फलस्वरूप होने वाली घटनाओं एवं सिगनल तथा ओएचई आदि के टूटने से परिचालन प्रभावित होने पर अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता जताई। उन्होंने इसके अतिरिक्त जोन के सभी टेकिंग ओवर प्वाइंटों पर भी कर्मचारियों को तैनात करने की बात कही और इसके लिये जमीनी स्तर के कर्मचारियों तक सेंसीटाइज करने की बात भी कही। उन्होंने कहा कि उत्तर मध्य रेलवे के सभी स्टेशनों, कारखानों, लोकोशेडों इत्यादि में एनर्जी एफिशिएंट एलईडी का प्रावधान किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY